मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> अखिलेश के करहल से चुनाव लड़ने को लेकर नाराज सपा नेता, छोड़ी पार्टी, भाजपा में हुए शामिल

अखिलेश के करहल से चुनाव लड़ने को लेकर नाराज सपा नेता, छोड़ी पार्टी, भाजपा में हुए शामिल

नयी दिल्ली 21 जनवरी 2022 । समाजवादी पार्टी प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मैनपुरी की करहल सीट से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। समाजवादी पार्टी की ओर से इस बात की अधिकारिक घोषणा भी कर दी गई है। इन सब के बीच सपा के लिए एक बुरी खबर आ रही है। दरअसल, अखिलेश के करहल सीट से चुनाव लड़ने को लेकर समाजवादी पार्टी के नेता रघुपाल सिंह भदौरिया नाराज हो गए हैं। वह कई दिनों से करहल विधानसभा क्षेत्र में आगामी चुनाव को लेकर तैयारी कर रहे थे और समाजवादी पार्टी के टिकट के प्रबल दावेदारों में से एक थे। हालांकि अब उन्होंने पार्टी छोड़ दी है। समाजवादी पार्टी से इस्तीफा देने के बाद वह भाजपा में शामिल हो गए हैं। आपको बता दें कि रघुपाल सिंह भदौरिया समाजवादी पार्टी के बड़े नेता रहे हैं। करहल के किरथुआ निवासी भदौरिया को पार्टी ने प्रदेश सचिव भी बनाया है। भाजपा में शामिल होते ही रघुपाल सिंह ने समाजवादी पार्टी पर जमकर प्रहार किया। रघुपाल सिंह ने दावा किया कि समाजवादी पार्टी में सिर्फ यादव जाति के ही लोगों को महत्व दिया जाता है। उन्होंने कहा कि मैं करहल से ग्राम प्रधान भी रहा हूं, हमेशा से समाजवादी पार्टी के लिए काम किया है। संगठन के लिए काम किया है। पूर्व सैनिक भी हूं। उन्होंने यह भी कहा कि अखिलेश यादव ने मेरी नहीं सुनी है। वहां की जनता मेरे साथ है। मैं भाजपा उम्मीदवार के लिए काम करूंगा आपको बता दें कि करहल सीट से अखिलेश यादव चुनावी मैदान में उतरने जा रहे हैं। करहल सीट से पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव का भी काफी जुड़ाव रहा है। करहल के ही जैन इंटर कॉलेज से मुलायम सिंह यादव ने शिक्षा ग्रहण की है और यहां शिक्षक भी रहे हैं। करहल से अखिलेश यादव का गांव सफाई सिर्फ 4 किलोमीटर की दूरी पर है। करहल सीट को यादव बहुल माना जाता है। यहां पिछले 7 बार से समाजवादी पार्टी पर कब्जा था।

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …