मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> खालिस्तानी चावला के साथ नजर आने पर बोले सिद्धू- PAK में मेरी 10 हजार फोटो ली गई

खालिस्तानी चावला के साथ नजर आने पर बोले सिद्धू- PAK में मेरी 10 हजार फोटो ली गई

नई दिल्ली 30 नवम्बर 2018 । पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर का शिलान्यास करने के बाद पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू स्वेदश लौट आए हैं. वाघा बॉर्डर पहुंचते ही उन्होंने खालिस्तानी आतंकी गोपाल चावला के साथ वायरल हो रही फोटो पर सफाई दी. उन्होंने गोपाल चावला को जानने से साफतौर पर इनकार कर दिया है.

पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पाकिस्तान में मेरी 5 से 10 हजार के बीच फोटो ली गई, मुझे नहीं पता कि गोपाल चावला कौन है. बता दें कि दिल्ली के विधायक और अकाली नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने गुरुवार सुबह एक फोटो ट्वीट करते हुए सिद्धू की गोपाल चावला के साथ तस्वीर साझा की.

ट्विटर पर फोटो शेयर करते हुए उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर सवाल उठाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने यह कहते हुए पाक का दौरा करने से मना कर दिया था कि पाक भारत और पंजाब के खिलाफ गतिविधियों का समर्थन करता है, लेकिन उसके अपने ही मंत्री (नवजोत सिंह सिद्धू) उनकी इच्छा के खिलाफ वहां जाते हैं और गोपाल सिंह चावला के साथ फोटो खिंचवाते हैं, जो हाफिज सईद का करीबी और भारत विरोधी है. क्या कैप्टन साहब अपने गैरजिम्मेदार मंत्री को हटाएंगे.

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि मैं दोनों पंजाब के दिलों को जोड़ कर आया हूं. गुरु नानक के आशीर्वाद से सब कुछ हो रहा है. हो सकता है बॉर्डर खुल जाएं और दोनों तरफ खुशहाली हो, यही मेरी कोशिश है. परमात्मा ने जरिया बनाया है.

कौन है गोपाल चावला

1980 के दशक में पंजाब में दहशत मचाने वाले खालिस्तान के आतंकी अब अन्य देशों में दुबके हुए हैं. इन्हीं में से एक है गोपाल चावला, जो भारत के लिए बड़ा खतरा है. गोपाल चावला के अलावा ऐसे ही चार और आतंकी भारत के लिए बड़ा खतरा हैं, जो दूसरे देशों में छिपे हैं.

सूत्रों के अनुसार गोपाल चावला पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा चीफ हाफिज सईद के साथ मिलकर पंजाब में आतंक फैलाने की साजिश रच रहा है. कुछ महीनों पहले पाकिस्तान में हाफिज सईद से चावला की मुलाकात की फोटो भी जांच एजेंसियों के हाथ लगी थी.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

अपोलो हॉस्पिटल्स, इंदौर में हार्ट सर्जरी के बाद नन्हे हीरोज अपने घर वापिस जाने के लिए तैयार

इंदौर 1 मार्च 2021 । यह अनुमान है कि भारत में हर साल 240,000 बच्चे …