मुख्य पृष्ठ >> Uncategorized >> संघ का सुझाव, साफ-सुथरी छवि के चेहरे उतारें चुनाव में

संघ का सुझाव, साफ-सुथरी छवि के चेहरे उतारें चुनाव में

नई दिल्ली 16 अक्टूबर 2018 । भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अरेरा कालोनी स्थित संघ कार्यालय जाकर क्षेत्र प्रचारक दीपक बिस्पुते सहित अन्य पदाधिकारियों से मुलाकात की। दोनों के बीच विधानसभा चुनाव के फीडबैक पर एक घंटे चर्चा हुई। इस दौरान संघ नेताओं ने आनुषंगिक संगठनों के फीडबैक को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शाह के साथ साझा किया। इसमें संघ के क्षेत्र प्रचारक दीपक बिस्पुते और अरुण जैन ने सरकार के मंत्रियों की छवि, विधायकों के खिलाफ नाराजगी, आदिवासी इलाकों में जयस जैसे संगठनों का बढ़ता प्रभाव और सवर्णों की नाराजगी का समाधान करने पर जोर दिया गया।संघ कार्यालय समिधा में शाह के साथ प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे, प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह, संगठन महामंत्री रामलाल, सुहास भगत भी मौजूद थे। संघ कार्यालय में हुई इस बातचीत की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि नीचे उतरते ही शाह ने डॉ. सहस्त्रबुद्धे को किनारे ले जाकर अलग से खड़े-खड़े बातचीत की। इसके बाद संगठन से जुड़े मसलों पर वहीं राकेश सिंह,भगत और रामलाल को निर्देश दिए।संघ और भाजपा नेताओं की इस मुलाकात में प्रदेश के ताजा राजनीतिक हालात का आंकलन किया गया। संघ नेताओं की ओर से साफतौर पर कहा गया कि साफ-सुथरी छवि के लोगों को चुनाव में उतारेंगे तो संघ के स्वयंसेवकों को भी भाजपा का सहयोग करने में आसानी होगी। मौजूदा विधायकों की छवि के कारण उपजी लोगों की नाराजी से भी संघ ने शाह को अवगत कराया। इसके अलावा संघ नेताओं ने विंध्य, महाकोशल, चंबल, मध्यभारत और मालवा क्षेत्र में आनुषांगिक संगठनों द्वारा जुटाए गए फीडबैक शाह को दिए।पार्टी नेताओं के मुताबिक शाह ने मप्र के विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी रणनीति से संघ को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि हमारे द्वारा लगातार साल भर पहले से सर्वे कराए जा रहे हैं। गुजरात, दिल्ली उत्तरप्रदेश और महाराष्ट्र सहित अन्य राज्यों के नेताओं को प्रदेश के अलग-अलग क्षत्रों में तैनात कर दिया गया है। कुछ दिनों में सारी स्थितियों को नियंत्रित कर लिया जाएगा। इस बारे में डॉ. सहसत्रबुद्धे ने कहा कि यह एक रूटीन मुलाकात है। एक विचारधारा के लोग आपस में चर्चा करते रहते हैं।आरएसएस नेताओं से चर्चा कर बाहर निकले अमित शाह ने संघ कार्यालय समिधा के बाहर ही राकेश सिंह, भगत और सहस्त्रबुद्धे से बातचीत की। फिर डॉ. सहस्त्रबुद्धे को इशारा कर बाहर ले गए, जहां उन्होंने एकांत में चर्चा की। इसके बाद एकबार फिर वे संघ कार्यालय में अंदर चले गए और लगभग दस मिनट बाद वापस आए।इधर, शाह से होटल जहांनुमा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुलाकात की। मुलाकात के बाद सीएम जनआशीर्वाद यात्रा के लिए रवाना हो गए। पूर्व प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने भी शाह से मुलाकात की।

बीजेपी में नहीं चलेगा दुल्हन बही जो पिया मन भाए…

बीजेपी में टिकिटों के लिए घमासान मचा हुआ है, पार्टी चौथी बार सत्ता में आने के लिए टिकिट बितरण को लेकर बेहद सतर्क है और हर स्तर पर सर्वे भी कराया है .इस बार पार्टी ने साफ कर दिया है की सिर्फ चुनाव जीतने बालों को ही टिकिट मिलेगा .किसी विशेष नेता की पसंद न पसंद नहीं चलेगी यानि दुल्हन बही जो पिया मन भाए बाला सिस्टम चलने बाला नहीं है . सूत्रों ने बताया की खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान टिकिट बितरण का बहुत बड़ा हिस्सा होंगे .वह इस चुनाव में कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं .जो चुनाव जीतने का दम रखते हैं उन उम्मीदबरों पर उनका फोकस है .पार्टी अध्यक्ष अमित शाह एक -एक सीट की रिपोर्ट ले रहे हैं और उम्मीदबरों के चयन के लिए उनका अपनी टीम का सर्वे भी चयन का हिस्सा है .बरहाल पार्टी पहली सूची जल्दी जारी करेगी ऐसा बतया जा रहा है .

सरकार बनाने के लिए नहीं, कांग्रेस को समूल उखाड़ फेंकने के लिए लड़ना है ये चुनाव: अमित शाह

आपने सरकार बनाने के लिए तो कई चुनाव लड़े हैं। आने वाला चुनाव सरकार बनाने का चुनाव नहीं है। ये चुनाव हमें कांग्रेस को मूल सहित उखाड़ फेंकने के लिए लड़ना है। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने यह बात सोमवार को रीवा में आयोजित रीवा-शहडोल संभाग के कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में कही। उन्होंने कार्यकर्ताओं को प्रचंड विजय का मंत्र देते हुए आगामी विधानसभा चुनाव में 200 से अधिक सीटें जीतने के लिए काम करने का संकल्प भी दिलाया। कार्यक्रम में पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री श्री रामलाल जी प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

पांच पीढ़ियों के बलिदान से शिखर पर पहुंची पार्टी

रीवा और शहडोल संभाग के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री शाह ने कहा कि भाजपा कभी नेताओं के आधार पर चुनाव नहीं लड़ती। भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं के आधार पर चुनाव लड़ती और जीतती है। उन्होंने कहा कि हर प्रचंड और परिवर्तनकारी जीत के पीछे कार्यकर्ताओं का पसीना और निष्ठा होती है। श्री शाह ने कहा कि हम भाग्यवान है कि हम जिस समय में पार्टी से जुड़े हैं, वह जीत हासिल कर रही है, लेकिन यह स्थिति शुरू से नहीं थी। 1950 से शुरू होकर कई पड़ावों से गुजरते हुए पार्टी आज इस स्थिति में पहुंची है। उन्होंने कहा कि एक समय वो भी था, जब चुनाव में किसी उम्मीदवार की जमानत बच जाती थी, तो खुशियां मनाई जाती थी। आज भाजपा 11 करोड़ सदस्यों वाली सबसे बडी पार्टी है। उन्होंने कहा कि यह परिवर्तन ऐसे ही नहीं आया, बल्कि इसके पीछे पांच राजनीतिक पीढ़ियों का बलिदान है। श्री शाह ने कहा कि हमें सरकार बनाने के लिए चुनाव नहीं जीतना है, बल्कि हर बूथ पर कमल खिले, इसके लिए लड़ना और जीतना है।

50 सालों तक पंचायत से पार्लियामेंट तक लहराता रहेगा भगवा

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए श्री शाह ने आह्वान किया कि मध्यप्रदेश के कार्यकर्ता ऐसी हवा बनाएं, जो छत्तीसगढ़ पहुंचकर आंधी और दिल्ली तक पहुंचते-पहुंचते सुनामी में बदल जाए। श्री शाह ने कहा कि आप 2019 में मोदी जी को फिर से प्रधानमंत्री बनाइये, मैं आपको गारंटी देता हूं कि अगले 50 सालों तक देश में पंचायत से पार्लियामेंट तक भाजपा का भगवा ध्वज लहराता रहेगा। उन्होंने कहा कि हम जहां भी सरकार बनाते हैं, वहां की परिस्थितियां बदलते हैं। मध्यप्रदेश का उदाहरण सबके सामने है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के श्रीमान बंटाढार के जमाने में मध्यप्रदेश एक बीमारू राज्य था। भाजपा की सरकार ने यहां आमूलचूल परिवर्तन किए। अब भाजपा के 15 सालों के शासन में वह विकसित राज्यों की कतार में शामिल हो चुका है। श्री शाह ने कहा कि यह परिवर्तन सिर्फ आंकड़ों में नहीं, बल्कि सामान्य जनजीवन पर और हर घर में दिखाई दे रहा है।

ऐसे सपने मत देखो राहुल बाबा, जो पूरे न हों

शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल बाबा आजकल मध्यप्रदेश के चक्कर लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आजकल राहुल बाबा बहुत सपने देख रहे हैं और ऐसा ही एक सपना उन्होंने देखा है, मध्यप्रदेश में सरकार बनाने का। श्री शाह ने कहा कि कांग्रेस कितनी जगहों से चुनाव हार चुकी है और अब राहुल बाबा, कुशाभाऊ ठाकरे और राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जमीन पर चुनाव जीतकर सरकार बनाने का सपना देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि राहुल बाबा, ऐसे सपने मत देखो जो कभी पूरे न हों।

राहुल बाबा जवाब दें, 10 सालों तक प्रदेश से अन्याय क्यों किया

राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री शाह ने कहा कि राहुल बाबा मध्यप्रदेश में आकर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से सवाल करते हैं कि आपने साढ़े चार साल में क्या किया। उन्होंने कहा कि राहुल बाबा जब सवाल पूछते हैं, तो जवाब देने का माद्दा भी रखना चाहिए। श्री शाह ने कहा कि केंद्र में दस सालों तक यूपीए की सरकार रही। इस दौरान मध्यप्रदेश को केंद्र से जो राशि मिलती थी, उसे मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनने के बाद बढ़ाकर ढाई गुना कर दिया गया है। श्री शाह ने कहा कि राहुल बाबा जवाब दें, उनकी सरकार ने मध्यप्रदेश के साथ 10 सालों तक यह अन्याय क्यों किया ? श्री शाह ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि सिर्फ चुनाव के समय मध्यप्रदेश में दिखाई देने वाले कमलनाथ कहते हैं कि केंद्र की भाजपा सरकार ने मध्यप्रदेश को यह राशि देकर उपकार थोड़े ही किया है। श्री शाह ने कहा कि मोदी जी की सरकार ने प्रदेश की जनता पर उपकार नहीं किया, बल्कि उसका अधिकार दिया है। अब कमलनाथ बताएं, कि उनकी सरकार ने मध्यप्रदेश की जनता को उसके इस अधिकार से वंचित क्यों कर रखा था।

देश के लोगों की नहीं, घुसपैठियों की चिंता करते हैं कांग्रेसी

शाह ने कहा कि असम में भाजपा की सरकार बनने के बाद वहां एनआरसी लागू हुआ और 40 लाख घुसपैठियों की पहचान की गई। जैसे ही सूची तैयार हुई, कांग्रेस और उसके सहयोगी टीडीपी, तृणमूल, सपा, बसपा, कम्युनिस्ट सभी पार्टियों ने राज्यसभा में कुहराम मचा दिया। श्री शाह ने कहा कि कांग्रेस और उसके सहयोगियों को इन घुसपैठियों की तो चिंता है, लेकिन जब इनकी आतंकी गतिविधियों में देश के लोग मारे जाते हैं, तो उनकी जान की चिंता नहीं है। इन घुसपैठियों के कारण देश के युवा बेरोजगार और बच्चे भूखे रह जाते हैं, उनकी चिंता नहीं है। श्री शाह ने कहा कि ये घुसपैठिये कांग्रेस और उसके सहयोगियों के वोट बैंक हैं। श्री शाह ने कहा कि कुछ लोगों ने प्रधानमंत्री की हत्या का षडयंत्र रचा, जब उन्हें गिरफ्तार किया गया, तो राहुल बाबा उसे मानव अधिकारों पर हमला बताकर चिल्लाने लगे। जेएनयू में जब देश के टुकड़े करने के नारे लगाने का मामला उठा, तो राहुल बाबा को उसमें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला दिखाई दिया। श्री शाह ने कहा कि आप 2019 में मोदी जी की सरकार बनाइये, जो देश को तोड़ने की, देश को जात-पात में बांटने की बात करेगा, उसे सलाखों के पीछे भेज दिया जाएगा। श्री शाह ने कार्यकर्ताओं से कहा कि सिर्फ भारतीय जनता पार्टी ही देश को सुरक्षित और समृद्ध बना सकती है, यह बात कार्यकर्ता घर-घर तक पहुंचायें।

दोनों संभागों की हर सीट जीतने का संकल्प लें कार्यकर्ता

रीवा-शहडोल संभाग के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेश सिंह ने कहा कि हमारे पास केंद्र और प्रदेश सरकारों की उपलब्धियां हैं। हमारे पास देश और प्रदेश का गौरव बढ़ाने वाला नेतृत्व है। ऐसे में हर कार्यकर्ता की जिम्मेदारी है कि वह इन बातों को प्रत्येक बूथ के हर घर तक पहुंचाये। श्री सिंह ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री, राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री जितना परिश्रम कर रहे हैं, उसे देखते हुए दोनों संभागों के परिश्रमी कार्यकर्ताओं की भी जिम्मेदारी है कि वे दोनों संभागों की सभी सीटें जीतने का संकल्प लें।

इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री दुष्यंत गौतम, मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ला, प्रदेश महामंत्री श्री विष्णुदत्त शर्मा, सांसद श्री ज्ञान सिंह, श्रीमती रीति पाठक, श्री गणेश सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विनोद गोटिया, श्री रामलाल रौतेल, प्रदेश मंत्री श्री सरतेन्दु तिवारी, श्री बुद्धसेन पटेल, संभागीय संगठन मंत्री श्री जितेन्द्र लिटोरिया सहित जिला पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।

आप ही बताएं, किसानों का हितैषी कौन शिवराज या मिस्टर बंटाढार : मुख्यमंत्री

किसानों के लिए हमने सिंचाई की व्यवस्था की। उन्हें फसलों का उचित मूल्य दिलाने की व्यवस्था की। कांग्रेस सरकारें जिसे असंभव कहती थीं, क्षिप्रा से नर्मदा को जोड़ने का वो काम किया। अब आप ही बताएं, किसानों का हितैषी कौन है, शिवराज या मिस्टर बंटाढार ? मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने यह सवाल सोमवार को मांगलिया में जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान आयोजित सभा में लोगों से पूछा। मुख्यमंत्री ने लोगों को भरोसा दिलाया कि प्रदेश सरकार ने ऐसे इंतजाम किए हैं कि किसानों को किसी तरह की परेशानी नहीं होगी।

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा सोमवार को इंदौर और देवास जिलों के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में पहुंची। यात्रा की शुरुआत इंदौर जिले की सांवेर विधानसभा के मांगलिया से हुई। मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर से मांगलिया पहुंचे। हेलीपैड से सभा स्थल के बीच मुख्यमंत्री का जोरदार स्वागत किया गया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने सभा में उपस्थित हजारों लोगों को संबोधित किया। इस दौरान मंच पर विधायक डॉ. राजेश सोनकर, जिला अध्यक्ष अशोक सोमानी सहित अन्य नेता उपस्थित थे।

सरकार का नफा-नुकसान एक तरफ, किसानों का नुकसान नहीं होने दिया

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने सांवेर विधानसभा क्षेत्र के मांगलिया में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि सांवेर सहित प्रदेश के सभी किसानों को फसल का उचित दाम दिलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले ही हमने इसके लिए प्रबंध कर दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के किसानों का प्याज सरकार ने खरीदा। सरकार ने किसानों को प्याज का पूरा भाव किसानों को दिया। सरकार ने खरीदी गई प्याज का भंडारण किया, उसमें कुछ नुकसान भी हुआ। उन्होंने कहा कि सरकार का नफा-नुकसान एक तरफ है, लेकिन हमने प्रदेश के किसानों का नुकसान नहीं होने दिया।

असंभव शब्द हमारे शब्दकोश में नहीं

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेसी मुख्यमंत्री कहते थे, नर्मदा मैया का पानी क्षिप्रा में नहीं आ पाएगा। लेकिन शिवराजसिंह ने यह करके दिखा दिया। उन्होंने कहा कि हमारे शब्दकोश में ‘असंभव’ जैसा कोई शब्द नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के जमाने में अंग्रेजों के समय से लेकर कुल 7रू30 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल में सिंचाई होती थी। लेकिन भाजपा की सरकार ने इसे बढ़ाकर 40, 00000 हेक्टेयर कर दिया। आने वाले दिनों में हम सिंचाई का रकबा बढ़ाकर 80, 00000 हेक्टेयर करने वाले हैं। उन्होंने कहा कि अब आप देख लीजिए किसानों का हितैषी कौन है, शिवराज सिंह या मिस्टर बंटाधार।

कांग्रेस ने चौपट कर दी थी शिक्षा व्यवस्था

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उस सरकार के समय में प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था चैपट हो गई थी। प्रदेश सरकार ने शिक्षकों का कैडर समाप्त कर दिया था। 500 रुपए महीने पर गुरु जी रखे गए थे, जिनके जिम्मे स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था थी। ऐसे में भला बच्चों का भविष्य कैसे संवर सकता था। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने शिक्षकों का कैडर एक कर दिया है। अब प्रदेश के शिक्षकों को 40000 से लेकर 50000 तक वेतन प्रतिमाह मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मिस्टर बंटाढार के समय में सड़कों पर गड्ढे थे या गड्ढों में सड़क थी, यह पता ही नहीं चलता था। हमने पूरे प्रदेश में सड़कों का जाल बिछा दिया है। अमेरिका से अच्छी सड़कें मध्यप्रदेश में देखने को मिल जाती हैं। कांग्रेसी मित्र कहते हैं कि अमेरिका से अच्छी सड़कें हो ही नहीं सकती। मुख्यमंत्री ने कहाक कि गुलामी की मानसिकता से ग्रस्त कांग्रेसी कुछ भी अच्छा नहीं देख पाते।

कांग्रेसियों के कहने से शिवराज नहीं हटने वाला

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेसी कुर्सी के सपने देख रहे हैं। उन्हें दिन-रात यही सपना दिखाई देता है कि वे कुर्सी पर बैठ रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरे कांग्रेसी मित्र 24 घंटे यही माला रटते रहते हैं-शिवराज हटाओ। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं कहता हूं फसल का पूरा दाम दिलाओ, वे कहते हैं शिवराज हटाओ। मैं कहता हूं महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान दिलाओ, वह कहते हैं शिवराज हटाओ। मैं कहता हूं गरीबी हटाओ, वह कहते हैं शिवराज हटाओ। मैं कहता हूं बच्चों को अच्छी शिक्षा उपलब्ध कराओ, वे कहते हैं शिवराज हटाओ। अरे भैया आपके कहने से शिवराज हटने वाला नहीं है। इसके लिए जनता की सेवा करना पड़ती है, जो भाजपा सरकार कर रही है। मुख्यमंत्री ने उपस्थित जनसमुदाय से कहा कि मैं आपसे चैथी बार भाजपा की सरकार बनाने के लिए आशीर्वाद मांगने आया हूं। इसके लिए उन्होंने स्थानीय लोगों को भाजपा को जिताने का संकल्प भी दिलाया।

जगह-जगह हुआ मुख्यमंत्री का स्वागत

सांवेर से कन्नौद आने के बाद मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह रथ पर सवार हुए और जनता का आशीर्वाद लेने निकल पड़े। गली और बाजारों से निकलते हुए मुख्यमंत्री का स्थानीय लोगों और भाजपा कार्यकर्ताओं ने गर्मजोशी से स्वागत किया। स्थानीय लोगों ने जगह जगह स्टॉल लगाए थे। इसके अलावा घरों की छतों से मुख्यमंत्री के रथ पर पुष्पवर्षा भी की गई। मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा जब कन्नौद से खातेगांव के लिए आगे बढ़ी, तो बस स्टैंड चैराहे पर शहरवासियों का हुजूम उनके स्वागत के लिए उमड़ पड़ा। मुख्यमंत्री ने अपना रथ रुकवाया और लोगों का अभिवादन स्वीकार करते हुए उनसे चैथी बार सरकार बनाने के लिए आशीर्वाद मांगा।

भाजपा आईटी विभाग ने निर्वाचन आयोग से की शिकायत

भारतीय जनता पार्टी आईटी एवं सोशल मीडिया विभाग ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के अधिकृत ट्वीटर हेंडल से फर्जी फोटो पोस्ट कर मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चैहान एवं मध्यप्रदेश की छवि खराब करने की शिकायत निर्वाचन आयोग को की है।

आईटी एवं सोशल मीडिया विभाग के संयोजक श्री शिवराज डाबी ने बताया कि कमलनाथ एक जिम्मेदार पद पर होकर जनता में गलत जानकारियां प्रस्तुत कर रहें हंै जो कि फेक न्यूज की श्रेणी में आता है। साथ ही भारतीय दंड संहिता की धारा 471 एवं 505 के अंतर्गत आपराधिक श्रेणी में आता है। सोशल मीडिया विभाग के सदस्य आनंद शर्मा ने आईटी विभाग की ओर से मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को शिकायत प्रस्तुत कर उचित कार्यवाही करने की मांग की है।

अनर्गल आरोप, फर्जी तथ्य और फर्जीवाड़ा यही कांग्रेसीपन हैः अग्रवाल

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता श्री रजनीश अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ सोशल मीडिया पर बांग्लादेश की सड़कों को मध्यप्रदेश की सड़कें बताकर बांग्लादेश से अपने विशेष लगाव को प्रदर्शित कर रहे है। श्री अग्रवाल ने कहा कि अनर्गल आरोप, फर्जी तथ्य और फर्जीवाड़ा यही असली कांग्रेसीपन है और कमलनाथ इसे बार बार फर्जीवाडा कर कांग्रेसीपन को उजागर कर रहे है। जनता कांग्रेस के इस भ्रामक प्रचार का चैथी बार हार से जवाब देकर सारे भ्रम तोड़ देगी। ज्ञात हो कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष श्री कमलनाथ ने अपने ट्वीटर हेंडल से बांग्लादेश की सड़कों का फोटो मध्यप्रदेश की सड़कें बताते हुए पोस्ट की थी।

अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस नेताओं को पाकिस्तान और बांग्लादेश से कुछ ज्यादा ही लगाव है और यही कारण है कि उन्हें अपने देश और प्रदेश का विकास नजर नहीं आता है। पहले कांग्रेस के महासचिव श्री दिग्विजय सिंह ने पाकिस्तान के पुल को मध्यप्रदेश का बताया था और अब कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा बांग्लादेश की सडकों को मध्यप्रदेश का बताना इसी ओर संकेत करता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का विकास से दूर दूर तक कोई नाता नहीं है और यही बात है कि उन्हें देश में पिछले 4 वर्षो से और मध्यप्रदेश में पिछले 15 वर्षो से हो रहा विकास नजर नहीं आता है। कांग्रेस नेताओं का एकमात्र एजेंडा सिर्फ विरेाध करना है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं को भ्रामक, मिथ्या और झूठे प्रचार करने में महारत हासिल है और वे इसका बखूबी निर्वहन कर रहें है। लेकिन जनता ने तीन बार जिस तरह उसके झूठ को बेनकाब किया है, ठीक उसी तरह चैथी बार भी कांग्रेस को उसके झूठ का करारा जवाब देगी।

मातृशक्ति ने दुनिया में भारत वर्ष के मान-सम्मान को बढ़ाने का कार्य किया – अमित शाह

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने कहा कि मेरे लिए सौभाग्य का अवसर है कि माता मैहर की धरती सतना से नवरात्र में मुझे मातृशक्ति से संवाद करने का अवसर प्राप्त हुआ। मातृशक्ति ने दुनिया में भारतवर्ष के मान-सम्मान को बढ़ाने का कार्य किया है। श्री शाह ने सोमवार को सतना में कमल शक्ति महिला सम्मेलन में बहनों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एक पुरूष कार्यकर्ता को हम कार्यकर्ता बनाते है तो वह एक कार्यकर्ता बनता है लेकिन एक बहन को पार्टी से जोड़ते है तो पुरा परिवार पार्टी से जुड़ता है। पुरे परिवार को हमारी विचारधारा से जोड़ने का काम आप जैसी कमल शक्ति बहनों के माध्यम हो रहा है। राजनैतिक और परिवार के बीच समन्वय और समय देकर आप बहनें पार्टी के विस्तार में योगदान दे रही है जो अभिनन्दनीय है। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि निश्चित तौर पर आपके पऱिश्रम से मध्यप्रदेश में चैथी बार भाजपा सरकार बनेगी।

सतना में कमल शक्ति महिला सम्मेलन में श्री शाह ने हजारों की संख्या में उपस्थित कमलशक्ति बहनों से संवाद करते हुए उन्हें प्रचंड जीत का संकल्प दिलवाया। बहनों ने तालियों की जोरदार गड़गड़ाहट के साथ भारत माता की जय के नारे लगाकर अपनी स्वीकृति व्यक्त की। कार्यक्रम के पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री श्री रामलालजी भी प्रमुख रूप से उपस्थित थे। मोर्चा की अध्यक्ष श्रीमती लता ऐलकर ने श्री अमित शाह का पुष्पगुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया।

अमित शाह ने केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की शिवराज सरकार द्वारा महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए किये गए कार्यों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि चाहे प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना हो, बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण अभियान हो, गर्भवती महिलाओं को पोषण के लिए आर्थिक सहायता हो, बालिकाओं को निःशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराने की बात हो, हर क्षेत्र में केंद्र की मोदी सरकार एवं राज्य की शिवराज सरकार ने काफी अच्छा काम किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समय मध्यप्रदेश में संस्थागत प्रसव 26 प्रतिशत हुआ करता था, जिसे शिवराज सरकार ने बढाकर 81 प्रतिशत तक लाने का काम किया है। बच्चियों की शिक्षा को लेकर भी अभूतपूर्व काम मध्यप्रदेश में हुए है। कांग्रेस के समय शिक्षा दर 40 प्रतिशत हुआ करती थी जिसे 15 वर्षो में 63 प्रतिशत तक पहंुचाया है। 15 वर्षो में 23 लाख से अधिक स्वसहायता समूह के माध्यम से बहनों को भाजपा सरकार ने आर्थिक रूप से मजबूत करने का काम किया। वहीं 27 लाख बेटियों को लखपति बनाने का शिवराज जी ने किया।

10 करोड़ परिवारों के लिए आयुष्मान भारत योजना

उन्होंने कहा कि महिला कल्याण के लिए जिस प्रतिबद्धता से सरकार काम कर रही है उसी ध्येय के साथ गरीबों के लिए भी भाजपा सरकारें दिन रात काम कर रही है। उन्होंने देश की सबसे बडी स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत के बारे में बताते हुए कहा कि इस योजना से 10 करोड परिवार के 50 करोड लोग बीमारी में सहायता से लाभान्वित होंगे। हर साल 5 लाख की सहायता मोदी सरकार देगी। उन्होंने कहा कि दुनिया में गरीबों के स्वास्थ्य के लिए इससे बडी कोई योजना नहीं है।

70 सालों तक कांग्रेस के बहरे कानों तक किसानों की आवाज नही पहुंची

शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश के 50 करोड़ गरीबों के उत्थान के लिए जो प्रयास पिछले साढ़े चार सालों में किया है, उसे कांग्रेस 70 सालों में कभी भी पूरा नहीं कर सकी। उन्होंने कहा कि आजादी के 70 सालों तक देश के किसान फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग कर रहे थे लेकिन कांग्रेस सरकारों के बहरे कानों तक किसानों की आवाज नही पहुंचती थी। उन्होंने कहा कि किसानों की समस्याओं के प्रति सतत संवेदनशील प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने खरीफ के साथ-साथ रबी फसलों के समर्थन मूल्य को लागत मूल्य का डेढ़ गुना करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है जिसकी कांग्रेस कल्पना भी नहीं कर सकती। गेंहु 1840 रूपये, मसुर 4400, सरसों 4200, चना 4600 और जौ की फसल 1440 रूपये में खरीदने का काम नरेन्द्र मोदी सरकार ने किया।

26 सप्ताह प्रसूति अवकाश देकर मातृ शक्ति का सम्मान किया

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने बहनों को संबोधित करते हुए कहा कि देश भर में लगभग साढ़े सात करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण करके केंद्र की मोदी सरकार ने महिलाओं को सम्मान के साथ जीने का अधिकार दिया है। कानून और व्यवस्था की स्थिति सुदृढ़ कर शिवराज सिंह चैहान की भाजपा सरकार ने महिलाओं को सुरक्षा प्रदान की है। श्री शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने 2 करोड से ज्यादा घरों में बिजली पहंुचाने का काम किया। सरकार में कामकाजी महिलाओं के लिए मातृत्व अवकाश को 12 सप्ताह से बढाकर 26 सप्ताह का प्रसूति अवकाश कर मोदी सरकार ने देश में सबसे ज्यादा मातृशक्ति का सम्मान किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नीति, नीयत और नेतृत्व विहीन पार्टी है जिसका न तो कोई सिद्धांत है और न ही कोई विचारधारा।

कांग्रेस ने राजमाता जी पर कहर ढाए

शाह ने कहा कि 12 अक्टूबर को राजमाता साहब का जन्म शताब्दी वर्ष प्रारंभ हुआ है। राजमाता जी भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए वात्सल्य का प्रतीक है। उन्होंने जनसंघ और भाजपा के लिए छत्तीसगढ, राजस्थान, गुजरात और मध्यप्रदेश के चप्पे चप्पे में घुमकर हर कार्यकर्ता को मातृ वात्सल्य से प्रोत्साहित करने का काम किया। कांग्रेस ने राजमाता जी के उपर आपातकाल में कहर ढाए।

शाह ने उपस्थित बहनों से आग्रह करते हुए कहा कि आप चुनावी समर में उतरी है। मध्यप्रदेश को विकास की ओर ले जाने वाली भाजपा सरकार के लिए 28 नवंबर को सुबह पुरे परिवार के साथ घर से निकलकर मतदान केन्द्र पहुंचकर कमल को वोट देना है। श्री शिवराज को फिर मुख्यमंत्री बनाने और 2019 में श्री नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए वोट करना है। उन्होंने कहा कि षिवराज जी समृद्ध मध्यप्रदेष का संकल्प लेकर लेकर निकले हैं, बहनें उन्हें चैथी बार अपना आशीर्वाद देकर भारी बहुमत से राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने का मार्ग प्रशस्त करें।

आज मातृशक्ति देश की विदेश एवं रक्षा मंत्रालय का जिम्मा संभाल रहीः राकेश सिंह

कमल शक्ति कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेश सिंह ने हमारे लिए गौरव की बात है कि देश में मातृशक्ति को महसूस होता है कि जहां-जहां भाजपा की सरकार है और श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार बनने के बाद देश में नारी शक्ति का सम्मान बढ़ा है। उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष जी का स्वागत करते हुए कहा कि देश के सबसे बडे दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष की उपस्थिति में मां शारदा की पवित्र भूमि से देश भर में आज यह संदेश पुनः जायेगा कि महिला सम्मान हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है।

उन्होंने कहा कि कुछ वर्षो तक देश में आधी आबादी महिला शक्ति को कठिनाईयों का सामना करना पडता था लेकिन प्रदेश में शिवराजसिंह चैहान तथा केन्द्र में नरेन्द्र मोदी की सरकार ने बहनों का सम्मान स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार से बहनों को उज्जवला का उजला सम्मान और झोपड़ी में रहने वाली बहनों को पक्का मकान मिला है। मध्यप्रदेश में शिवराजसिंह चैहान के नेतृत्व में लाडली लक्ष्मी से लेकर बेटी की पढाई और शादी तक की चिंता मध्यप्रदेश सरकार कर रही है।

उन्होंने कहा कि आज मातृशक्ति देश की विदेश मंत्रालय एवं रक्षा मंत्रालय का जिम्मा संभाल रही है। दुनिया भर में हिन्दुस्तान की मातृशक्ति का डंका बज रहा है। भारतीय जनता पार्टी चाहती है बहनों को सत्ता में बराबरी का सम्मान मिले और पुरूषों के साथ बहनें भी कंधे से कंधा मिलाकर चले और यह तभी संभव हो सकता है जब भारतीय जनता पार्टी को कमल शक्ति के रूप में आप बहनों का समर्थन मिले। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित बहनों को अबकी बार 200 पार का विजय संकल्प दोहराते हुए चुनाव के लिए जुट जाने की बात कही।

राजमाता के सहारे धूल चटाने की तैयारी में बीजेपी
मध्यप्रदेश में चुनावी डुगडुगी बजते ही बीजेपी-कांग्रेस तेज कदमों से सूबे का चक्कर लगाने लगी हैं. दोनों दल जीत के लिए दम भर रहे हैं और साम-दाम-दंड-भेद का हर नुस्खा भी आजमा रहे हैं. वहीं, पंद्रह साल से सत्ता का वनवास काट रही कांग्रेस इस बार पूरे जोश के साथ मैदान में दम दिखा रही है. हालांकि, इस बीच बीजेपी ने एक ऐसा दांव खेला है, जो कांग्रेस की उम्मीदों पर पानी फेर सकता है.
ग्वालियर राजवंश की राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जन्म शताब्दी समारोह मनाकर बीजेपी जहां नारी शक्ति और नारी सम्मान का श्रेय ले रही है. वहीं, राजमाता के सहारे चुनावी कश्ती किनारे लगाने की जुगत में है. ये शताब्दी समारोह अगले साल 11 अक्टूबर तक चलेगा. हालांकि, इस कार्यक्रम का ज्यादा शोर हाल में चुनाव होने वाले प्रदेशों में है. खासकर मध्यप्रदेश और राजस्थान. राजमाता जनसंघ के संस्थापक सदस्यों में से एक रहीं. कहा ये भी जाता है कि उन्होंने बीजेपी को अपने आंचल में पालकर बड़ा किया है. हालांकि, विपक्ष का मानना है कि बीजेपी को चुनावी साल के चलते राजमाता की याद सता रही है, उनके पोते और कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी कह चुके हैं कि बीजेपी को चुनाव के वक्त उनकी दादी याद आयीं हैं, जबिक पिछले 15 सालों से बीजेपी उन्हें भूली बैठी थी.
दरअसल, प्रदेश में चुनाव सिर पर है, इस बीच सिंधिया के इस बयान के मायने तो यही निकाले जा रहे हैं कि बीजेपी ने राजमाता को आइकॉन बनाकर एक चुनावी दांव खेला है क्योंकि चंबल अंचल के ग्वालियर और गुना में कुछ ऐसी सीटें हैं, जहां आज भी राजमाता का प्रभाव है. वह 1957 से 1991 तक आठ बार ग्वालियर और गुना संसदीय क्षेत्र से सांसद रह चुकी हैं. यही वजह है कि यहां की सीटों पर उनके नहीं होने के बावजूद उनकी पकड़ मजबूत है. ज्योतिरादित्य सिंधिया का प्रभाव ग्वालियर-चंबल संभाग की 34 सीटों के अलावा मालवा की दर्जन भर से अधिक सीटों पर भी दिखता है. इस बार कांग्रेस ने सिंधिया को सीएम का चेहरा तो नहीं बनाया. इसके बाजवजूद बीजेपी सिंधिया को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ रही. यही वजह है कि बीजेपी अब राजमाता के सहारे सिंधिया को कमजोर करने की कोशिश में है. या यूं कहें कि बीजेपी को अब राजमाता का सहारा है, अब इस नाम के सहारे बीजेपी चुनावी वैतरणी पार कर पाती है या नहीं. इसका फैसला चुनावी नतीजे ही करेंगे.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राज्यों में आपसी टकराव से जूझ रही भाजपा

नई दिल्ली 21 जून 2021 । देश की सबसे मजबूत पार्टी और पार्टी विद डिफरेंस …