मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> रूस को समर्थन देने की कीमत चुकानी होगी, अमेरिका की चीन को धमकी

रूस को समर्थन देने की कीमत चुकानी होगी, अमेरिका की चीन को धमकी

नयी दिल्ली 15 अप्रैल 2022 । अमेरिका ने चीन को धमकी दी है कि यूक्रेन में रूस के हमले का समर्थन करना भविष्य में उन्हें बहुत भारी पड़ेगा। अमेरिका ने कहा है कि ऐसा करने की चीन को भारी कीमत चुकानी होगी। ताइवान के दौरे पर आए एक वरिष्ठ अमेरिकी सांसद ने ये बात कही। दरअसल लिंडसे ग्राहम की अध्यक्षता में अमेरिकी प्रतिनिधियों के ताईवान दौरे को लेकर भड़के चीन ने भी धमकी भरे लहजे में कहा था कि इसके गंभीर परिणाम देखने को मिलेंगे। चीन ने कहा था- हमने लोकतांत्रिक ताईवान पर कभी शासन नहीं किया लेकिन क्योंकि ये आईलैंड हमारी सीमा के अंदर आता है, हम इसे कभी भी अपने कब्जे में ले सकते हैं और जरूरत पड़ी तो इसके लिए ताकत का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अमेरिकी सांसद ने ताईवान के राष्ट्रपति थाई-इंग-वेन से मुलाकात के दौरान कहा कि रूस ने जिस तरह से यूक्रेन पर हमला किया और चीन ने उसकी निंदा करने से मना कर दिया उससे जाहिर है कि भविष्य में वो भी अपने पड़ोसी देश के साथ ऐसा कर सकता है। ताईवान को भरोसा दिलाते हुए अमेरिका ने कहा कि ताईवान को छोड़ देना लोकतंत्र और स्वतंत्रता को छोड़ देने जैसा है। अगर ऐसा हुआ तो ये मानवता के लिए शर्मनाक होगा।

अमेरिकी सांसद ने कहा- दुनिया में जो हो रहा है उसकी कीमत चीन को चुकानी होगी। रूस का समर्थन करने की एक कीमत है जो चीन को चुकानी होगी। चीन को चेतावनी देते हुए अमेरिकी सांसद ने कहा- जो लोग ताईवान को कमजोर समझ रहे हैं उन्हें समझ लेना चाहिए कि वैश्विक समुदाय ताईवान के साथ है। हम ताईवान पर कोई भी नकारात्मक असर नहीं पड़ने देंगे क्योंकि ताईवान के साथ वैश्विक समुदाय का हित जुड़ा हुआ है। अमेरिकी सांसद से जब ये पूछा गया कि चीन हमला करता है तो क्या अमेरिका चीन से लड़ने के लिए अपने सैनिक भेजेगा? इसके जवाब में अमेरिकी सांसद ने कहा- हर विकल्प को टेबल पर रखा जाएगा, हमारे पास मजबूत सेना इसलिए नहीं है हम दूसरे की संपत्ति को छीन लें बल्कि इसलिए है कि हम अपनी और दुनिया की आजादी को बचाए रख सकें।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …