मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> तान्या शेरगिल ने रचा इतिहास, राजपथ पर संभाली पुरुष बटालियन की कमान

तान्या शेरगिल ने रचा इतिहास, राजपथ पर संभाली पुरुष बटालियन की कमान

नई दिल्ली 27 जनवरी 2020 । 71वें गणतंत्र दिवस के मौके पर हर बार की तरह सेना की टुकड़ियों ने परेड में हिस्सा लिया. लेकिन 26 साल की एक महिला आर्मी ऑफिसर की मौजूदगी ने इस परेड को पहले से ज्यादा खास बना दिया. गणतंत्र दिवस की इस परेड में अपने परिवार की चौथी पीढ़ी की आर्मी ऑफिसर तान्या शेरगिल ने हिस्सा लिया था. सोशल मीडिया पर अब तान्या की तस्वीरें खूब वायरल हो रही हैं.
तान्या परेड में सेना की टुकड़ी की कमान संभालने वाली भारत की पहली महिला ऑफिसर हैं. आर्मी के कार्प्‍स ऑफ सिग्‍नल्‍स की कैप्‍टन तान्या शेरगिल पंजाब के होशियारपुर से हैं और सेना के सिग्नल कोर में कैप्टन हैं.
कैप्टन शेरगिल को चौथी पीढ़ी की ऑफिसर इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि उनसे पहले परिवार के तीन अन्य सदस्य सेना में रहकर देश की सेवा कर चुके हैं. तान्या के परदादा, दादा और पिता भी आर्मी में थे.
तान्या ने बताया कि उन्होंने पहले कभी ऐसे किसी समारोह में हिस्सा नहीं लिया था. लेकिन बचपन से ही उनकी तमन्ना थी कि एक दिन वह परेड में हिस्सा लें. तान्या ने बताया कि वर्दी पहनने के बाद वह सिर्फ एक ऑफिसर हैं. ये तस्वीर हर किसी के जेहन में रहेगी.
सेना में महिलाओं की आदर्श होने को लेकर जब उनसे सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, ‘ऐसी कई महिलाएं हैं जो मुझसे भी ज्यादा बेहतर काम कर रही हैं. मैं खुद कई महिलाओं को अपना प्रेरणास्रोत मानती हूं.’
तान्या आगे कहती हैं, ‘अगर कोई छोटी बच्ची भी मुझसे प्रेरणा लेती है तो मेरे लिए इससे अच्छी बात और क्या हो सकती है.’ सेना में भर्ती होने से पहले तान्या ने नागपुर यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रोनिक्स एंड टेलीकॉम्युनिकेशन में बीटेक किया हुआ है.
अपने इंटरव्यू में तान्या ने बताया कि वह मेरिट के आधार पर सेना में शामिल हुई हैं. उनका अगला प्लान माउंटेनियरिंग का कोर्स करना है और प्रमोशन एग्जाम के लिए तैयारी करना है.

केसरिया पगड़ी-नीली सदरी, गणतंत्र दिवस पर इस अंदाज में नजर आए PM मोदी

71वें गणतंत्र दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र ने मोदी राष्ट्रीय समर स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी. इसके बाद उन्होंने गणतंत्र दिवस की परेड का आनंद लिया है. ऐसे मौकों पर पीएम मोदी हमेशा ट्रेडिशनल लुक में ही नजर आते हैं. गणतंत्र दिवस के इस अवसर पर भी वह कुछ इसी अंदाज में नजर आए.

पीएम मोदी ने सफेद रंग का कुर्ता और चूड़ीदार पयजामा पहना था. इसके ऊपर उन्होंने ब्लू कलर की स्लीवलेस जैकेट पहन रखी थी.
पीएम मोदी ने हमेशा की तरह इस बार भी अपने आउटफिट को ब्लूक शूज के साथ टीमअप किया हुआ था. मोदी हर तरह के आउटफिट पर ब्लैक शूज पहनना ही पसंद करत हैं.

पीएम मोदी के इस लुक को केसरिया रंग की पगड़ी कम्पलीट कर रही थी. पगड़ी पर लाल और पीले रंग का कुछ हल्के डिजाइन भी थे. मोदी ने इस बार पगड़ी बांधने के लिए बंधेज के कपड़े का इस्तेमाल किया था.

राजस्थान और गुजरात में बंधेज के कपड़ा का बड़ा प्रचलन है. कॉटन से मिलते-जुलते बंधेज के कपड़े में हाथ से डिजाइन बनाए जाते हैं.

साल 2014 में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी पीएम मोदी ने जोधपुरी बंधेज के कपड़े की पगड़ी सिर पर पहनी थी. उस पगड़ी में लाल और हरे रंग का अच्छा कॉम्बिनेशन देखने को मिला था.

गणतंत्र दिवस पर तिरंगा फहराने को लेकर भिड़े कांग्रेसी नेता, जमकर चले थप्पड़-घूंसे
71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर मध्य प्रदेश में सत्तारुढ़ कांग्रेस पार्टी के लिए स्थिति उस समय शर्मसार हो गई जब झंडारोहण के दौरान पार्टी के दो नेता आपस में भिड़ गए.

मामला इंदौर का है जहां पर पार्टी ऑफिस में झंडारोहण का कार्यक्रम चल रहा था और इस बीच कांग्रेस के 2 नेता आपस में ही भिड़ गए. दोनों नेता एक-दूसरे पर थप्पड़ और घूंसे मारने लगे. कांग्रेस नेताओं देवेंद्र सिंह यादव और चंदु कुंजीर के बीच जमकर थप्पड़ और घूंसे चलने लगे. हालांकि अचानक मारपीट होने से वहां मौजूद लोगों को कुछ समझ नहीं आया, लेकिन झगड़े को सुलझाने की कोशिश करने लगे.इस बीच वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने कांग्रेस के दोनों नेताओं को अलग-अलग किया और स्थिति को नियंत्रण में लेकर आए. झंडारोहण के दौरान कांग्रेस के ऑफिस में बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

किश्तवाड़ में बादल फटने से पांच की मौत, 40 से ज्यादा लोग लापता

नई दिल्ली 28 जुलाई 2021 ।  जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश का कहर देखने को मिला …