मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> दिग्विजय का जितना बजट था, उतना तो हम लोकार्पण पर खर्च कर देते हैं: शिवराज सिंह

दिग्विजय का जितना बजट था, उतना तो हम लोकार्पण पर खर्च कर देते हैं: शिवराज सिंह

भोपाल 11 जुलाई 2018 । भाजपा कार्यालय में रविवार को चुनाव प्रचार के लिए उन कार्यकर्ताओं को बुलाया गया जो सोशल मीडिया पर एक्टिव थे। इन लोगों को कार्यकर्ता कहने की बजाए ‘साइबर योद्धा’ कहा गया ताकि पूरा जोश भरा जा सके। इसी दौरान अपनी सरकार का गुणगान करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दिग्विजय सिंह सरकार का कुल जितना बजट होता था, उतना तो हम लोकार्पण पर खर्च कर देते हैं। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने इस लाइन को कैप्चर कर लिया और शिवराज सिंह पर फिजूल खर्ची का आरोप लगाया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 14 साल में विकास के ऐतिहासिक काम हुए हैं। इसे सोशल मीडिया के जरिए असरदार तरीके से लोगों को बताएं। कांग्रेस के आरोपों का तत्काल जवाब दें और लोगों तक यह बात पहुंचाएं कि कांग्रेस अफवाह फैलाकर भ्रमित करती है। जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान भाजपा का आईटी सेल सोशल मीडिया पर विशेष कैंपेन चलाने जा रहा है। मुख्यमंत्री के काफिले के साथ आईटी सेल के विशेषज्ञ भी हर समय उनके साथ रहेंगे। पूरी यात्रा को लाइव किया जाएगा। मप्र में इस तरह का प्रयोग पहली बार होने जा रहा है।

कांग्रेस ने कहा: ऋणं कृत्वा घृतं पिवेत
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि यह सही कहा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कि दिग्विजय सरकार का जितना बजट था उतना भाजपा सरकार लोकार्पण पर खर्च कर देती है । तभी प्रदेश पर आज पौने दो लाख करोड़ का कर्ज है और प्रदेश के हर नागरिक पर 22 हजार का कर्ज है। प्रदेश पर पौने दो लाख करोड़ का कर्ज का बोझ डालने वाली सुशासन वाली सरकार ओवरड्राफ्ट में चली गयी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद की बैठक…

इंदौर। उज्जैन से शुरू होने वाली मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शामिल होने वाले हैं। भाजपा में भीड़ जुटाने की जुगत शुरू हो गई है। इसको लेकर नगर और ग्रामीण की बैठक बुलाई थी, जो फ्लॉप हो गई। विधायकों को फोन लगाकर बुलाना पड़ा, कई पार्षद भी गायब थे। ये देख राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा भड़क गए। अब फिर से नगर व ग्रामीण की अलग-अलग बैठक बुलाई गई है।

सोमवार की शाम ७ बजे दीनदयाल भवन नगर व ग्रामीण की बैठक बुलाई गई थी। विधायक, पार्षद, नगर पदाधिकारी, मोर्चा प्रकोष्ठ अध्यक्ष-महामंत्री, मंडल अध्यक्ष-महामंत्री को बुलाया था। बैठक लेने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा खुद आ रहे थे। यह समय पर शुरू हुई, जिसमें जनप्रतिनिधियों में विधायक सुदर्शन गुप्ता और कुछ पार्षद ही प्रमुख रूप से मौजूद थे।

स्थिति देख विधायकों को फोन लगाए गए। इसके बाद महापौर मालिनी गौड़, महेंद्र हार्डिया पहुंचे। राजेश सोनकर ४५ मिनट लेट पहुंचे। पार्षदों का आंकड़ा दो दर्जन के करीब था। कुल मिलाकर आंकड़ा सौ के पार भी नहीं पहुंचा। नाराज झा ने बैठक शुरू करते हुए कहा कि जो रुठे हैं, उन्हें मनाओ और यात्रा में लेकर आओ। वहां पार्टी का विराट स्वरूप देखकर वे भी काम पर लग जाएंगे। सारी नाराजगी दूर हो जाएगी। भीड़ जुटाने के लिए पूरी ताकत से प्रयास करना चाहिए।

फिर उन्होंने आंकड़े इकट्ठे करना शुरू किए। शुरुआत विधायक गुप्ता से हुई, जिन्होंने दो हजार की संख्या बताई। झा बोले- मैं तीन साल से तुम्हारी चुनरी यात्रा में आ रहा हूं। उसमें इतने लोग हो सकते हैं, तो पार्टी के कार्यक्रम में क्यों नहीं? बाद में सभी विधायकों ने १०० बसें भरकर लाने का दावा किया। बैठक के बाद नाराज झा ने नगर व जिला अध्यक्ष को फिर से बैठक बुलाने को कहा। ११ जुलाई को शाम ६ बजे ग्रामीण और ८ बजे शहर की बैठक होगी।

कोई नहीं जाएगा अजा मोर्चे का
अजा मोर्चा अध्यक्ष राजेश शिरोड़कर ने कहा कि हमारे मोर्चे से कोई नहीं जाएगा। हमारी कार्यकारिणी घोषित हुए समय हो गया, अब तक पदभार ग्रहण करने नहीं दिया जा रहा है। ये सुनकर झा चौंक गए। यात्रा के संभागीय प्रभारी बाबूसिंह रघुवंशी ने मामले को रफा-दफा करने के लिए शिरोड़कर को बैठने के निर्देश दिए।

आरक्षण बराबर चाहिए, भीड़ क्यों नहीं लातीं?
महिला मोर्चा की ओर से पार्षद ज्योति तोमर ने दस बसें लेकर आने को कहा। झा का कहना था कि ऐसे तो ५० प्रतिशत आरक्षण चाहिए। यहां बराबरी से भीड़ क्यों नहीं जुटती? पहले आपके यहां से दस हजार की संख्या जुटाने का दावा किया गया था।

मुझे गलत जानकारी मत दो
सांवेर विधायक राजेश सोनकर ने पांच हजार की संख्या जुटाने का दावा किया। कहा कि उज्जैन में खाती समाज की जगदीश यात्रा निकलेगी। प्रयास है कि वे लोग इसमें शामिल हो जाएं। इस पर झा ने कहा कलाकारी मुझे मत सिखाओ। हमारी पहले ही बात हो गई। उनकी यात्रा में वे इतना थक जाते हैं कि वे नहीं आएंगे।

पूर्व विधायकों एवं सांसदाें को जिम्‍मेदारी देंगे- कमलनाथ

मध्‍यप्रदेश कांग्रेस के प्रदेशाध्‍यक्ष कमलनाथ ने आज मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव में पूर्व विधायक एवं पूर्व सांसद सभी के सहयोग की आवश्यकता उन्‍हें ज़िम्मेदारी भी देंगे। नाथ ने कहा कि सभी काे जोड़ने का प्रयास भी करेंगे।

चुनावी पर्यवेक्षक के सवाल पर बोले कमलनाथ ने कहा कि पर्यवेक्षक अच्छा काम कर रहे है। उन्‍होंने कहा कि जिनका व्यवहार ठीक नहीं होगा और जिनकी शिकायत आयेगी उन्हें हटा दिया जायेगा। प्रदेशाध्‍यक्ष ने किसानों की चौपाल पर बोले – इनके पास अब कुछ बचा नहीं है….जहाँ जा रहे है , जनता इन्हें भगा रही है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि अब धनबल से ये जनता को पटाना चाहते है।
बिजली के मुद्दें पर नाथ ने कहा कि आज प्रदेश में बिजली संकट है, जबकि बिजली सरप्लस है। सब जानते है कि ये किसको किस रेट में बिजली बेच रहे है और किसकी बिजली किसको दे रहे है। कमलनाथ ने कहा कि आज किसानों को बिजली नहीं मिल पा रही है। कमलनाथ ने कहा कि हमने एनजीओ की बैठक में बोला कि आपका राजनीति से कोई जुड़ाव नहीं, आप तो हमें घोषणा पत्र को लेकर सुझाव दे। आप प्रदेश के अच्छे भविष्य को लेकर हमारा साथ दे। नाथ ने कहा कि आज हमें राष्ट्रवाद का पाठ वो लोग पढ़ा रहे है , जिनका एक भी सदस्य आज़ादी के आंदोलन में नज़र नहीं आया।

मेरी अभिलाषा कुर्सी पाने की नहीं : ज्योतिरादित्य सिंधिया

पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं मप्र कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले मेरी अभिलाषा कुर्सी पाने की नहीं है। बस इतनी-सी चाह है कि मैं मध्यप्रदेश वासियों के दिल में जगह पा सकूं। सांसद सिंधिया अपने निर्वाचन क्षेत्र शिवपुरी में व्यापारियों के साथ संवाद कर रहे थे। एक युवा व्यापारी ने उनसे ऐसा ही कुछ सवाल किया था जिस पर सिंधिया ने उसे कहा नेता बनने की अभिलाषा मत रखो। नेता की अभिलाषा लाल बत्ती और कुर्सी पाने की होती है। राजनीति में आने की अभिलाषा है तो जनसेवा के लिए आएं। सिंधिया आध्यात्मिक मूड में भी नज़र आए, बोले इस दुनिया में सब निर्वस्त्र आए हैं और निर्वस्त्र ही इस दुनिया से विदा हो जाएंगे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फतह मुबारक हो मुसलमानो, भारत के खिलाफ जीत इस्लाम की जीत…जश्न मनाने के बदले जहर उगलने लगा पाक

नई दिल्ली 25 अक्टूबर 2021 । खराब बल्लेबाजी और खराब गेंदबाजी की वजह से टीम …