मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> कश्मीर में अब तक का सबसे बड़ा हमला, 44जवान शहीद

कश्मीर में अब तक का सबसे बड़ा हमला, 44जवान शहीद

नई दिल्ली 15 फरवरी 2019 । जम्मू कश्मीर में सबसे बड़े आतंकी हमले में पुलवामा के पास गुरुवार को सीआरपीएफ के 43 जवान शहीद हो गए और 20 से अधिक घायल हो गए। हालांकि समाचार एजेंसी पीटीआई ने शहीद जवानों की संख्या 39 बताई है। हमले के वक्त 2547 जवान 78 वाहनों के काफिले में जा रहे थे। इसी दौरान जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से लदी कार से उनकी बस में टक्कर मार दी। धमाका इतना जबरदस्त था कि बस के परखच्चे उड़ गए। करीब 10 किलोमीटर तक धमाके की आवाज सुनाई दी।

छुट्टियां बिताने के बाद ड्यूटी पर लौट रहे थे जवान

अधिकारियों ने बताया कि केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के अधिकतर जवान छुट्टियां बिताने के बाद ड्यूटी पर लौट रहे थे। जम्मू कश्मीर हाईवे पर अवंतिपोरा इलाके में अपराह्न करीब 3:15 बजे आतंकियों ने घात लगाकर हमला किया। आत्मघाती हमलावर की पहचान पुलवामा के काकापोरा निवासी आदिल अहमद के तौर पर हुई है। आदिल 2018 में जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हुआ था। कुछ दिन पहले सुरक्षा बलों ने उसे घेर लिया था, लेकिन वह चकमा देकर भाग निकला था।मौके पर मौजूद एक अधिकारी ने बताया कि हमलावर कार में 350 किलोग्राम विस्फोटक लेकर आया था। वह गलत दिशा में कार चला रहा था और उसने जिस बस पर सीधी टक्कर मारी उसमें 39 से 44 जवान यात्रा कर रहे थे। शव इतनी बुरी तरह क्षत-विक्षत हो चुके हैं कि चिकित्सकों के लिए हताहतों की वास्तविक संख्या बताना कठिन हो रहा है। उन्होंने बताया कि आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। यह हमला श्रीनगर से करीब 30 किलोमीटर दूर हुआ है।सीआरपीएफ महानिदेशक आरआर भटनागर ने बताया कि आतंकियों ने काफिले पर कुछ गोलियां भी चलाईं। उन्होंने बताया कि यह काफिला जम्मू से तड़के 3:30 बजे चला था और इसे सूर्यास्त तक श्रीनगर पहुंचना था। हमले के बाद सेना और सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान छेड़ दिया है। अवंतीपोरा से लेकर बीजबेहड़ा तक हाईवे पर आम वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है और कश्मीर घाटी में मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

वेनेजुएला ने जारी किया अब तक का सबसे बड़ा 10 लाख का नोट

नई दिल्ली 9 मार्च 2021 । साउथ अमेरिका महाद्वीप का देश वेनेजुएला दुनिया का ऐसा …