मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> मानस के शब्दों के गूढ़ अर्थ तथा संदर्भों का दुर्लभ संग्रह है पुस्तक

मानस के शब्दों के गूढ़ अर्थ तथा संदर्भों का दुर्लभ संग्रह है पुस्तक

भोपाल 3 अप्रैल 2020 । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आज संचालक जनसम्पर्क श्री ओ.पी. श्रीवास्तव ने उनकी पुस्तक शब्दमानस भेंट की। यह पुस्तक श्री ओ.पी. श्रीवास्तव एवं उनकी पत्नी श्रीमती भारती श्रीवास्तव द्वारा संयुक्त रूप से लिखी गई है। इस अवसर पर श्रीमती भारती श्रीवास्तव भी मौजूद थीं।

पुस्तक में श्री रामचरितमानस के समस्त 14 हजार 611 शब्दों के अर्थ, संदर्भ तथा उनसे संबंधित समस्त चौपाई, दौहा, सौरठा, श्लोक, छंद एक स्थान पर संकलित हैं। पुस्तक में एक ही शब्द की अनेक संदर्भों में व्याख्या की गई है। शब्दों के उद्भव, गूढ़ अर्थ तथा उनके अद्भुत प्रयोगों की जानकारी भाषा शास्त्रियों के लिए अत्यंत उपयोगी है। पुस्तक मानस में प्रयुक्त शब्दों का तत्समय का प्रचलित सही अर्थ ज्ञात करने तथा पक्षपाती, आलोचना के समाधान के लिए उल्लेखनीय है। लेखक ने मानस के शब्दों को वर्णमाला के क्रम में क्रमबद्ध करके उनके समस्त संदर्भों को एक साथ रखकर तथा विभिन्न अर्थों को लिपिबद्ध कर शब्दमानस की रचना की है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Ram Mandir निर्माण के लिए Rajasthan के लोगों ने दिया सबसे ज्यादा चंदा

जयपुर: विश्व हिंदू परिषद (VHP) के केंद्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के …