मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> रातभर रोता रहा डॉक्टर, बोला- मेरा तो सबकुछ खत्म हो गया

रातभर रोता रहा डॉक्टर, बोला- मेरा तो सबकुछ खत्म हो गया

उज्जैन  23 नवम्बर 2018 । आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज के ब्लड बैंक इंचार्ज के खिलाफ छात्राओं ने छेड़छाड़ की शिकायत की है। पहले दिन छात्राओं ने यौन-उत्पीडऩ की बात कही, लेकिन पुलिस के पास शिकायत छेड़छाड़ की पहुंचीं। हालांकि छात्राएं अपने साथ अश्लील बातें करने और फिजिकली छेड़छाड़ की बातें करने के आरोप पर अडिग हैं। इधर गिरफ्तार आरोपी डॉक्टर रूपम जैन ने माधवनगर थाना में जीवन की पहली हवालाती रात काटी। रातभर वह रोता रहा। पूछताछ में बस इतना ही कहता रहा, मैं फ्रेंक हो गया था, मुझे क्या पता था कि ये मुझे यहां ले आएगा।

छात्राओं के साथ छेड़छाड़ करने वाले आरोपी डॉ. रूपम जैन को महिला थाना पुलिस ने गिरफ्तार तो कर लिया, लेकिन रात उसे माधवनगर थाना के लॉकअप में गुजारनी पड़ी। देर रात तक इस आरोपी डॉक्टर के लिए पुलिस अधिकारियों के पास कुछ फोन कॉल भी पहुंचे और इसे लॉकअप से अलग हटकर बिठाए जाने की रिक्वेस्ट आती रही।

इधर आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज के ब्लड इंचार्ज आरोपी डॉक्टर रूपम जैन का ब्लड मच्छरों ने खूब चूसा। वह लॉकअप से पुलिसकर्मियों को आरोप लगाता रहा कि साहब मुझे बाहर बैठा दो, मैं कहीं भागूंगा नहीं। सुबह लॉकअप से उसे नित्यक्रिया के लिए जब बाहर निकाला गया तो खूब रोया। उसकी सूजी हुई आंखें बता रही थीं कि उसने रात सो कर नहीं रोकर गुजारी।

मामला आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज में छात्राओं के साथ छेड़छाड़ का

आज दोपहर बाद पेश करेंगे कोर्ट में
आरोपी डॉक्टर रूपम को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा। हालांकि पुलिस के पास पूछताछ के लिए रिमांड मांगने का भी अवसर है, लेकिन ऐसा अंदाजा लगाया जा रहा है कि पुलिस संभवत: ऐसा नहीं करेगी। इधर आज कुछ और छात्राएं भी एसपी सचिन अतुलकर से मिलने पहुंचेगी। पता चला है आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज का जो महिला स्टाफ पूर्व में इसी डॉक्टर के खिलाफ शिकायत कर चुका थ, वह भी आज महिला थाने में शिकायत करने पहुंच सकता है। इधर अस्पताल मैनेजमेंट इस घटना को लेकर कुछ भी बोलने से कतरा रहा है। बुधवार को मैनेजमेंट यह प्रयास करता रहा, कि छात्राओं की शिकायत के अलावा यहां से कोई और शिकायत करने के लिए पुलिस थाना ना पहुंचे।

वो मैं नहीं था-आरोपी डॉक्टर रूपम
अक्षर विश्व ने माधवनगर थाना में जब डॉक्टर रूपम से यह पूछा कि यह सब उसने क्यों किया, तो उसने कहा कि मैं तो फैं्रक हूं, मुझे क्या पता था कि मेरा ऐसा करना मुझे इतना भारी पड़ेगा। मैं तो सभी से ऐसे ही बात करता हूं। इस प्रतिनिधि ने जब उससे यह पूछा कि क्या आप सभी से सेक्स की डिमांड करते हैं, क्या आप सभी से यह कहते हैं कि तू गाली दे …कोई बात नहीं….तू तो मेरी जान है। यह सब फ्रैंक होना कहते हैं। इस पर डॉक्टर रोने लगा और कहने लगा कि गलती हो गई सा…ब।

मैनेजमेंट लगा है लीपापोती में
आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज इस घटना के बाद लीपापोती में लगा है। पीडि़त छात्राएं बता रहीं हैं कि कॉलेज मैनेजमेंट को उन्होंने लंबे समय पूर्व इस घटना से अवगत करा दिया था, लेकिन कॉलेज कार्रवाई करने को तैयार नहीं हुआ। उल्टा मैनेजमेंट ने यह कहा कि तुम लोग इस लफड़े में मत फंसों, थोड़ा एडजस्ट करो। नहीं तो भविष्य बर्बाद हो जाएगा। छात्राओं का कहना है कि कॉलेज की लाखों की फीस भरने के बाद पैरेंट्स ने हमें यहां कुछ बनने के लिए भेजा था, हम यह सब करने थोड़ी ना आए थे। हम यह सब अब सहन नहीं करेंगे। नियमानुसार कॉलेज मैनेजमेंट के खिलाफ भी कार्रवाई होना चाहिये।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना महामारी के चलते सादे समारोह में ममता बनर्जी ने ली शपथ

नई दिल्ली 05 मई 2021 । तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने राजभवन …