मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> 11 छक्के लगाकर ठोका था सबसे तेज दोहरा शतक

11 छक्के लगाकर ठोका था सबसे तेज दोहरा शतक

नई दिल्ली 23 मार्च 2020 । क्रिकेट के मैदान पर अकसर रिकॉर्ड बनते हैं और फिर वो टूटते भी हैं. हालांकि एक रिकॉर्ड ऐसा है जो आज से 18 साल पहले बना था और आजतक उसे कोई तोड़ नहीं पाया है. 16 मार्च, 2002 को न्यूजीलैंड के बल्लेबाज नाथन एस्टल (Nathan Astle) ने क्राइस्टचर्च टेस्ट में तूफानी दोहरा शतक जड़ा था. दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने इंग्लैंड के खिलाफ महज 153 गेंदों में डबल सेंचुरी जमाकर इतिहास रच दिया था. एस्टल ने इंग्लैंड के खिलाफ 168 गेंदों में 222 रनों की तूफानी पारी खेली थी. आज तक एस्टल के इस रिकॉर्ड को कोई नहीं तोड़ पाया है. सहवाग, विराट, रोहित शर्मा जैसे धुरंधर भी इस कीर्तिमान तक नहीं पहुंच पाए हैं.

एस्टल का दोहरा शतक
एस्टल (Nathan Astle) ने ये ऐतिहासिक पारी इंग्लैंड के खिलाफ बनाई थी. न्यूजीलैंड को 550 रनों का विशाल लक्ष्य मिला था और उसने मैट होम, लू विन्सेंट और स्टीफन फ्लेमिंग के विकेट गंवा दिये थे. इसके बाद एस्टल मैदान पर उतरे और उन्होंने अपनी आक्रामकता से इंग्लैंड के होश ही उड़ा दिये. एस्टल ने महज 54 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया, इसके बाद उन्होंने 114 गेंदों में शतक जमाया. एस्टल यहीं नहीं रुके और 136 गेंदों में 150 और फिर 153 गेंदों में दोहरा शतक लगा दिया. एस्टल ने अपनी तूफानी पारी में 11 छक्के और 28 चौके लगाए. एस्टल की इस तूफानी पारी के बावजूद न्यूजीलैंड ये मैच 98 रनों से हार गया था हालांकि उनकी ये पारी इतिहास में अमर हो गई.

वर्ल्ड कप से पहले ले लिया संन्यास
1995 में इंटरनेशनल डेब्यू करने वाले एस्टल (Nathan Astle) ने 2007 में संन्यास ले लिया था. बड़ी बात ये है कि उन्होंने 2007 वर्ल्ड कप से महज 6 हफ्ते पहले क्रिकेट को अलविदा कहा. एस्टल ने इसकी वजह क्रिकेट में कम रुचि को बताया, जिसने सभी फैंस को हैरान कर दिया. एस्टल ने अपने करियर में 81 टेस्ट खेले और 11 शतकों की मदद से कुल 4702 रन जमाए. 223 वनडे में एस्टल ने 7090 रन ठोके और उनके बल्ले से 16 शतक निकले.

कार रेसर हैं एस्टल
नाथन एस्टल ने क्रिकेट छोड़ दिया है लेकिन अब वो कार रेसर बन गए हैं. एस्टल अब मॉडिफाइड कार रेसिंग करते हैं. यही एस्टल की कमाई का जरिया भी है. बता दें ये खेल बेहद ही खतरनाक है. कई बार रेस के दौरान कार पलटती है जिससे ड्राइवर की जान भी जा सकती है लेकिन 48 साल की उम्र में भी एस्टल कार रेसिंग करते हैं.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

भस्मासुर बना तालिबान, अपने ही सुप्रीम लीडर अखुंदजादा का कत्ल; मुल्ला बरादर को बना लिया बंधक

नई दिल्ली 21 सितम्बर 2021 । अफगानिस्तान में सत्ता पाने के बाद आपस में खूनी …