मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> ‘हिंदू कोर्ट’ की पहली जज बोलीं- गोडसे से पहले पैदा होती तो गांधी को मैं मारती!

‘हिंदू कोर्ट’ की पहली जज बोलीं- गोडसे से पहले पैदा होती तो गांधी को मैं मारती!

मेरठ 24 अगस्त 2018 । उत्तर प्रदेश के मेरठ में गठित पहली हिंदू अदालत की पहली जज नियुक्त की गईं डॉ पूजा शकुन पांडे ने कहा है कि उन्हें गर्व है कि वो और उनका संगठन अखिल भारत हिंदू महासभा नाथू राम गोडसे को पूजता है.

खुद को सामाजिक कार्यकर्ता और गणित की प्रोफेसर बताने वाली पूजा शकुन ने aajtak.in से फोन पर बात करते हुए कहा, ‘हां, मुझे गर्व है कि हम नाथू राम गोडसे को पूजते हैं. वो गांधी के हत्यारे नहीं थे. उन्हें भारतीय संविधान लागू होने से पहले सजा दे दी गई थी. जाइए पढ़िए.’

वो आगे कहती हैं, ‘मैं गर्व से कहती हूं कि अगर नाथू राम गोडसे से पहले मैं पदा होती तो मैं ही गांधी को मार देती. यह भी सुन लीजिए, अगर आज भी कोई गांधी पैदा होगा जो देश बांटने की बात करेगा तो नाथू राम गोडसे भी इसी पुण्य भूमि पर पैदा होगा.’

गौरतलब है कि मेरठ में देश की पहली कथित ‘हिंदू अदालत’ स्थापित करने का दावा अखिल भारत हिंदू महासभा नामक संगठन ने किया है. संगठन का दावा है कि शरिया अदालतों की तर्ज पर देश में हिंदू अदालतें स्थापित की जाएंगी.

संगठन ने अलीगढ़ की डॉ पूजा शकुन पांडे को इस अदालत का पहला जज भी नॉमिनेट किया है. महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अशोक शर्मा का कहना है कि हिंदू अदालतों में जमीन विवाद, मकान और विवाह के मामले आपसी सहमति से सुलझाए जाएंगे. उन्होंने कहा कि 2 अक्टूबर को उन नियमों को सार्वजनिक किया जाएगा जिनके अनुसार ‘हिंदू अदालत’ काम करेंगी.

हिंदू अदालत बनाने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को नोटिस जारी करते हुए इस मामले पर जानकारी मांगी है. वहीं कोर्ट ने डीएम मेरठ और हिंदू कोर्ट की कथित जज पूजा शकुन पांडे को पक्षकार बनाने का निर्देश देते हुए भी नोटिस जारी किया है. मामले की अगली सुनवाई 11 सितम्बर को होगी.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना की तीसरी लहर आई तो बच्चों को कैसे दें सुरक्षा कवच

नई दिल्ली 12 मई 2021 । भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से हाहाकार …