मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> मोदी सरकार के इन चार मंत्रियों के तेवर हैरान करने वाले

मोदी सरकार के इन चार मंत्रियों के तेवर हैरान करने वाले

नई दिल्ली 8 जून 2019 । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल का आरंभ कर दिया है. कई नए चेहरे मंत्रिमंडल में आए हैं. वहीं, कुछ पुराने चेहरे साथ नहीं दिख रहे. सुरेश प्रभु, मेनका गांधी, सुषमा स्वराज, अरुण जेटली, राज्यवर्द्धन सिंह राठौर जैसे मंत्रियों की कमी इस बार मोदी सरकार में खल जरूर रही हैं. लेकिन, नए मंत्रियों से उम्मीदें भी काफी ज्यादा है. इनमें से चार मंत्रियों ने पिछले कुछ दिनों के कार्यकाल में ही खूब प्रभावित किया है. आइए उनके बारे में जानकारी लेते हैं…

नंबर 1 : राजनाथ सिंह
मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में गृह मंत्री की भूमिका में थे। इस बार उनकी भूमिका बदली है। वे रक्षा मंत्री बनाए गए हैं। उन्होंने अपने कार्यकाल की शुरुआत वार मेमोरियल जाकर की। वहीं, अपनी आधिकारिक यात्रा सियाचिन ग्लेशियर स्थित विश्व के सबसे ऊंचे युद्ध क्षेत्र पर पहुंच कर की। राजनाथ सिंह हमेशा अपने कार्य के प्रति समर्पित रहे हैं और नई भूमिका में भी वे इसे प्रदर्शित कर सबको चकित कर रहे हैं।

नंबर 2 : निर्मला सीतारमण
मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में देश की पहली रक्षा मंत्री रहीं निर्मला सीतारमण अब देश की पहली पूर्ण वित्त मंत्री हैं। जेएनयू की छात्र रही हैं। वित्त की अच्छी समझ भी है। रक्षा मंत्रालय में अपने शानदार कार्य से उन्होंने हर किसी को प्रभावित किया। उनके वित्त मंत्री बनने के बाद रिजर्व बैंक ने मौद्रिक समीक्षा बैठक में रेपो रेट को 0.25 फीसदी घटाने का निर्णय लिया है। यह कर्जदारों के लिए फायदेमंद होगा। वित्त मंत्री से कुछ इसी प्रकार के कदम की उम्मीद देश कर रहा है, जो अर्थव्यवस्था को बूस्ट कर सके।

नंबर 3 : अमित शाह
भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष के रूप में अपने रणनीतिक कौशल का लोहा मनवा चुके अमित शाह अब देश के गृह मंत्री हैं। गृह मंत्री बनने के बाद से उन्होंने जिस प्रकार से देश के भीतर के मसलों को लेकर सक्रियता दिखाई है, वह सराहनीय है। कश्मीर के मुद्दे को लेकर वे अपने कार्यकाल के पहले दिन से ही काम करते दिख रहे हैं। इसके अलावा देश के भीतर की स्थिति में सुधार के लिए उनके पास विजन के होने की बात भी कही जा रही है। यह एक अलग स्थिति की ओर इशारा कर रहा है।

नंबर 4 : एस जयशंकर
राजनयिक से राजनेता तक का सफर कर विदेश मंत्री की कुर्सी पर पहुंचे डा. एस. जयशंकर ने भी शानदार आगाज किया है। ट्विटर पर वे अपने पूर्ववर्ती सुषमा स्वराज की तरह ही विदेश में रह रहे भारतीयों की समस्याओं को सुन रहे हैं और उसका समाधान कर रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने विदेश नीति पर अपना अलग ही नजरिया पेश कर हर किसी को प्रभावित किया है। निश्चित तौर पर वे मोदी सरकार के वर्तमान कार्यकाल के लिए बड़ा एसेट साबित होंगे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

नरेश पटेल की एंट्री के कयास ने लिखी हार्दिक पटेल के एग्जिट की पटकथा

नयी दिल्ली 18 मई 2022 । कांग्रेस से लंबे समय से नाराज चल रहे गुजरात …