मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> करोना काल में हृदय रोगियों में युवाओं की संख्या बढी : डॉ पुरोहित

करोना काल में हृदय रोगियों में युवाओं की संख्या बढी : डॉ पुरोहित

भोपाल 29 सितम्बर 2021 ।करोनाकाल मे तनावभरी जिंदगी , अनियमित जीवन शैली और अनियंत्रित खानपान ने युवाओं में हृदय रोग बढ़ा दिया है। हैरानी वाली बात यह है कि इसमे 25-30 वर्ष के कामकाजी युवा है जो मोटापा एवं मधुमेह के कारण हृदय रोग के शिकार बन रहे है।
यह खुलासा राष्ट्रीय सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के सलाहकार डॉ नरेश पुरोहित ने विश्व हृदय रोग दिवस पर करते हुए बताया कि
युवाओं में हृदय रोग अनुवांशिक भी होता है। अगर परिवार का इतिहास लंबे समय से हृदय रोग से जुड़ा रहा है, तो अगली पीढ़ी में इसके होने की संभावना काफी ज्यादा होती है। वहीं, अनियमित खानपान व तंबाकू चबाना कम उम्र में हृदय रोग का नेतृत्व करने के दो बड़े कारण हैं।

उन्होंने कहा कि एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में दिल के दौरे का सामना करने वाले लगभग 12 प्रतिशत लोगों की उम्र 40 से कम है। यह आंकड़ा पश्चिमी देशों से दोगुना है। ऐसा देखा गया है कि 15-20 प्रतिशत हृदयाघात के पीड़ित 25 से 40 साल के होते हैं।
महामारी रोग विशेषज्ञ डॉ पुरोहित के मुताबिक कोरोना फेफड़े के साथ ही दिल को भी नुकसान पहुंचा रहा है। ये दिल के आघात को बढ़ा देता है। पहले से दिल की बीमारी से जूझने वालों की स्थिति और भी गंभीर कर देता है। शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली जब वायरस से लड़ती है तो नसों में सूजन आ जाती है। शरीर में जगह-जगह थक्का सा जमने लगता है। हृदय में बनने वाला यह थक्का हृदयघात का कारण बन रहा है।

उन्होंने बताया कि अत्यधिक शारीरिक और भावनात्मक तनाव हृदय रोग के लिए अग्रणी होता है। इससे पूरे शरीर पर दबाव पड़ता है। इसलिए नियमित रूप से व्यायाम, योग, ध्यान की मदद से तनाव को दूर रख हृदय की रक्षा की जा सकती है।
उन्होने स्पष्ट कहा कि इस समय पूरे भारत के करीब 10 प्रतिशत लोग हृदय रोगों से ग्रसित हैं और यह संख्या लगातार बढ़ रही है।
उन्होंने आगे कहा कि हृदय रोग से बचने के लिए शक्कर, नमक और तेल सीमित मात्रा में लें। घंटों एक ही स्थिति में बैठना हृदय के लिए हानिकारक हो सकता है। सप्ताह में एक दिन अनाज का सेवन करने से बचें। थोड़ा समय व्यायाम के लिए निकालें।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पीएम नरेंद्र मोदी ने भैरहवा एयरपोर्ट पर न उतरकर नेपाल को दिया सख्त संदेश

नयी दिल्ली 17 मई 2022 । पीएम नरेंद्र मोदी बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर नेपाल …