मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> जिस साफ्टवेयर कंपनी के लिए करता था नौकरी, उसी कंपनी के साफ्टवेयर को अलग से कंपनी बनाकर सहकारी संस्थाओं को बेचा

जिस साफ्टवेयर कंपनी के लिए करता था नौकरी, उसी कंपनी के साफ्टवेयर को अलग से कंपनी बनाकर सहकारी संस्थाओं को बेचा

भोपाल 24 दिसंबर 2018 । सायबर क्राइम भोपाल में Technology Horizon Pvt India Ltd एम पी नगर के संचालक द्वारा लिखित शिकायत दर्ज की गई थी कि उनके साफ्टवेयर जो मध्य.प्रदेश की सहकारी संस्थाओ के उपयोग हेतु बनाये गये हैए उनकी ही कंपनी में पूर्व में प्रोजेक्ट लीडर के तौर पर कार्य कर चुके आरोपी शैलेष छीपा पिता स्वण्छोटूलाल छीपा पता.69ए डी के देवस्थलीए बाबङिया कला भोपाल द्वारा अनाधिकृत तौर पर मध्य.प्रदेश की 400 से अधिक सहकारी संस्थाओ को बेचे गये है। इसके अतिरिक्त Technology Horizon Pvt India Ltd के अन्य साफ्टवेयर भी आरोपी द्वारा स्वंय की कंपनी कृष्णा वेबसाफ्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा उपयोग किये जा रहे है। इस पर अपराध क्रं क्रं. 281/ 81 धारा 408 420 भादवि व 66 (43(B) आईटी एक्ट दर्ज कर विवेचना में लिया गया ।
विशेष पुलिस महानिदेशक सायबर श्रीमती अरूणा मोहन राव एवं अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री राजेश गुप्ता द्वारा अपराधो के तत्काल निकाल करने के संबंध में हाल ही में दिये गये दिशा निर्देशो के पालन में की गई कार्यवाही में पुलिस अधीक्षकए राजेश भदौरियाए राज्य सायबर सेल भोपाल के मार्ग.निर्देशन पर विवेचक अभिषेक सोनेकर के नेतृत्व में सायबर पुलिस भोपाल की टीम ने दिनांक 21/12/2018 व 22/12/2018 के दरम्यानी रात को आरोपी की कंपनी कृष्णा.वेबसाफ्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेडएरमा आर्केड ए गुलमोहर भोपाल स्थित कार्यालय से लेपटाप तथा डेस्कटाप आदि सामग्री जब्त कर आरोपी को गिरफ्तार किया।
आरोपी शैलेष छीपा के अनुसार Technology Horizon Pvt India Ltd के प्रोजेक्ट लीडर के तौर पर कार्य करने के दौरान इन साफ्टवेयर को डेवेलप करने में मदद की थी। जिसका ैवनतबम ब्वकम व अन्य साफ्टवेयर आरोपी के पास उपलब्ध थे स इन सॉफ्टवेर का आरोपी द्वारा अपनी स्वयं की कंपनी में अनधिकृत रूप से उपयोग किये जा रहे थे। आरोपी द्वारा समानांतर ही स्वयं के द्वारा साफ्टवेयर व्यापार हेतु पहले एक फर्म तथा बाद में 02 कंपनिया खोली गई थी जिसमें से वर्तमान में केवल एक कंपनी कृष्णा वेबसाफ्ट इडिया प्राइवेट लिमिटेड आरोपी द्वारा संचालित की जा रही थी । प्रकरण में विवेचना अभी भी जारी है स
उक्त कार्यवाही करने में निरीक्षक अभिषेक सोनेकर के नेतृत्व में उनि महेश लिल्हारे उनि विनय नरवरिया उनि संदीप बघेल उनि अनुज समाधिया ए आरण् धर्मेन्द्र शर्मा ए आरण् सुरेश मीणाए आरण् सकेंत तिवारी ए तथा आरण् अनुराग बोरासी का सराहनीय योगदान रहा ।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Facebook न्यूज़ इंडस्ट्री को 3 साल में 1 अरब डॉलर का करेगा भुगतान

नई दिल्ली 26 फरवरी 2021 । Google के नक्शे-कदम पर चलते हुए सबसे बड़े सोशल …