मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> विजयवर्गीय के बिगड़े बोल

विजयवर्गीय के बिगड़े बोल

इंदौर 14 अप्रैल 2019 । भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस के कद्दावर नेता दिग्विजय सिंह के भोपाल से चुनाव लड़ने को आत्महत्या करना बता दिया।

उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दिग्विजय सिंह को भोपाल से चुनाव लाडवा कर फंसा दिया हैं। वहीं उन्होंने पश्चिम बंगाल भाजपा की जीत की उम्मीद जताई। सुषमा स्वराज के चुनाव न लड़ने के फैसले पर कहा पार्टी का फैसला है 75 पार के नेताओं को टिकट नहीं दिया जाएगा। जिसका ताई ने फैसले का सम्मान किया।

अपने विवादित बयानों के लिए जाने जाने वाले भाजपा के नेता और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने फिर एक बार बयान बम फोड़ा हैं। इसबार उन्होंने यह कहकर राजनीति बवाल ला दिया हैं कि भोपाल से कांग्रेस के टिकट पर उम्मीदवार दिग्विजय सिंह भोपाल से चुनाव लड़कर सुसाइड कर रहे हैं। उन्होंने कहा की दिग्वियजय सिंह को सीएम कमलनाथ ने जबरन फंसा दिया हैं। भोपाल पर भाजपा ने अबतक किसी को भी टिकट नहीं दिया इस पर उन्होंने कहा कि भाजपा भोपाल से चाहें शिवराज सिंह को टिकट दे या उमा भारती को या किसी किसी भी नेता को वे दिग्विजय सिंह को भोपाल सीट से हरा देगा। इंदौर से किसे टिकट मिलेगा इस सवाल को वे उन्होंने टालते हुए कहा की जो सुझाव दे सकते है वे ही देंगे मै कैसे आप को सुझाव नहीं दे सकता।

ई टेंडर मामले में कार्यवाही की बात पर उन्होंने कहा कि ट्रांसफर उद्योग में जो हवाले का पैसा था वो सब सामने आ गया हैं। ऐसे में अपने मुँह की कालिख साफ करने के लिए वे दुसरो पर कीचड़ उछाल रहे हैं।

कैलाश ने पश्चिम बंगाल में भाजपा की जीत की उम्मीद जताते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता मोदी जी की दीवानी हैं और वे ममता दीदी के आतंक के खिलाफ मोदी जी को जिताएंगी। सुषमा स्वराज को लेकर कैलाश ने कहा की ताई की कोई नाराजगी नहीं हैं हमारी पार्टी का निर्णय है की 75 साल से ज्यादा का कोई चुनाव नहीं लड़ेगा जिसका ताई ने स्वागत किया हैं। ताई पार्टी के फैसले का सम्मान करती हैं। वे हमारी नेता है और रहेंगी। उन्होंने इंदौर से चुनाव लड़ने की बात पर कहा कि वे अभी बंगाल में पार्टी का काम कर रहे हैं और अभी यहाँ से चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं। बंगाल की चुनौती बड़ी हैं वे अभी वहीं फोकस कर रहे हैं। फिर भी जो पार्टी का निर्णय होगा उसे मानेंगे।

दिग्विजयसिंह ने जता दी यह कैसी इच्छा
इस बार के लोकसभा चुनाव में मध्य प्रदेश की जिस एक सीट पर सारे देश की नजरें हैं।

वो भोपाल है। यहां से कांग्रेस ने राज्यसभा सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को चुनावी मैदान में उतारा है। ये अलग बात है कि भाजपा उनके खिलाफ अब तक कोई चेहरा नहीं तय कर पाई है। सिर्फ बैठकों और चर्चाओं का दौर चल रहा है। इस बीच दिग्विजय सिंह बदले हुई रणनीति के तहत भाजपा के इस अभेद्य किले में सेंध लगाने के लिए काम कर रहे हैं। इसी कड़ी में वो मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं। भोपाल सीट से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह की आचार संहिता के दौरान घोषणा ने सबको चौका दिया। राम नवमी के दिन एक धार्मिक कार्यक्रम में जिला कांग्रेस को आवंटित हुई जमीन उन्होंने राम मंदिर ट्रस्ट को सौंपने की मंशा जाहिर की।

दिग्विजय सिंह ने शनिवार दोपहर शहर के हमीदिया रोड, सब्जी मंडी स्थित राम मंदिर में पूजा-अर्चना की। इसके बाद जय श्री राम के नारे भी लगाए। इसके बाद उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि इस राम मंदिर निर्माण के लिए जमीन भी कांग्रेस शासनकाल में दी गई थी। ट्रस्ट ने यहां राम मंदिर बनाया। मंदिर के सामने जिला कांग्रेस कमेटी की जमीन है। तो आज रामनवमी के अवसर पर वो जमीन भी कांग्रेस पार्टी की ओर से आपके ट्रस्ट को हम ट्रांसफर करना चाहते हैं।

अगले पाँच साल में कृषि और रोजगार के क्षेत्र में नई क्रांति लाएंगे

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि पिछले पाँच साल में इस देश के लोगों के अच्छे दिन तो नहीं आए लेकिन मोदी सरकार के आखरी दिन जरूर आ गए। श्री नाथ ने आज सीधी और शहडोल लोकसभा क्षेत्र में चुनावी सभाओं में भाजपा की मोदी सरकार पर तीखा हमला किया। उन्होंने कहा कि इस देश को जनता और नौजवानों को जो सपने दिखाए थे वे तो पूरे नहीं हुए बल्कि आज देश को खतरनाक मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है। जहाँ देश की सुरक्षा और अर्थव्यवस्था खतरे में पड़ गई है। उन्होंने मध्यप्रदेश का उल्लेख करते हुए कहा कि 100 दिन में कांग्रेस की सरकार ने किसानों का कर्जा माफ किया और नौजवानों को काम दिया। अभी हमारे पास पाँच साल है। आने वाले दिनों में हम कृषि और रोजगार के क्षेत्र में एक नई क्रांति लाएंगे और मध्यप्रदेश को देश के विकसित प्रदेशों के नक्शे में अंकित करके रहेंगे।
मुख्यमंत्री श्री नाथ ने आज विंध्य प्रदेश की सीधी लोकसभा क्षेत्र की देवसर और शहडोल लोकसभा क्षेत्र के अनूपपुर में विशाल आम सभाओं में कहा कि देश की जनता खासतौर पर नौजवान, गरीब और किसान याद करे कि प्रधानमंत्री ने क्या कहा था। उन्होंने 15 लाख देने का वादा तो किया ही था मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया की बात की थी। उन्होंने हर वर्ष 2 करोड़ नौजवानों को रोजगार देने का वादा किया था। इस देश की जनता को इसके पहले कभी ऐसे सरेआम नहीं ठगा गया। आज अच्छे दिन सिर्फ उन्हीं के आए जो भाजपा के है।
मुख्यमंत्री ने भाजपा के राष्ट्रवाद पर निशाना साधते हुए चुनौती दी कि मोदी जी और उनकी भाजपा एक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का नाम बताएं जो उनकी पार्टी या उनकी विचारधारा से जुड़ा रहा हो। ऐसे लोग कांग्रेस को राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ा रहे हैं जिसका स्वतंत्रता संग्राम के संघर्ष और बलिदान से भारत का इतिहास भरा पड़ा है। मोदी जी कहते हैं उनके जीते जी ही देश सुरक्षित रहेगा। मेरा सवाल है कि आज से पाँच साल पहले देश असुरक्षित था। क्या हमारी नेवी, एयरफोर्स, हमारी फौज, सैनिक स्कूल विभिन्न सुरक्षा संस्थान मोदी जी ने बनाए। यह देन है हमारे पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू और श्रीमती इंदिरा गाँधी की जो कांग्रेस पार्टी के थे। श्री नाथ ने कहा कि देश की सुरक्षा के नाम पर घड़ियाली आँसू बहाने वाले भाजपाइयों के राज में सबसे ज्यादा आतंकी हमले हुए चाहे वह संसद पर हो या लाल किले पर।
मुख्यमंत्री श्री नाथ ने लगभग तीन माह पहले कांग्रेस पार्टी की सरकार प्रदेश में बनाने पर जनता का अभार व्यक्त करते हुए कहा कि 100 दिन में हमने बताया है कि अगले पाँच वर्ष में हमारी नियत और नीति क्या रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि 100 दिन में बिजली की बात हो, पेंशन की बात हो, कृषि क्षेत्र, हमारे किसानों और नौजवानों की बात हो, हमने बड़े फैसले लिए और किसानों, नौजवानों की प्रगति के नए द्वार खोले है। उद्योगों के जरिए हमने रोजगार की संभावनाओं को तलाशा है। मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार में जितने उद्योग लगे नहीं उससे अधिक बंद हो गए । ऐसी स्थिति में नए उद्योगों ने प्रदेश की ओर देखा ही नहीं। यह जो अविश्वास है इसे हम लौटाएंगे और प्रदेश में निवेश का नया इतिहास बनाएंगे। निवेश की यह नीति नौजवानों के रोजगार से जुड़ी रहेगी। जो उद्योग जितने रोजगार देगा उसे सरकार उतनी अधिक सुविधाएँ देगी।

बूथ जिताएं कांग्रेस की सरकार बनाएं
मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने अपने विन्ध्य में चुनावी दौरे के दौरान उमरिया और रीवा में पार्टी कार्यकर्ताओं से बूथ जीतने और केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनाने का आव्हान किया। उन्होंने कहा कि हर कार्यकर्ता बूथ की जिम्मेदारी सम्हाले और उसका निर्वहन करे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

अमित शाह के बयान पर नीतीश कुमार का तंज, बोले- इतिहास कोई कैसे बदल सकता है

नयी दिल्ली 14 जून 2022 । बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी सहयोगी पार्टी बीजेपी …