मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> एक महीने का रहेगा आपातकाल और हर नागरिक उठाएगा हथियार, रूस से जंग पर यूक्रेन की प्लानिंग

एक महीने का रहेगा आपातकाल और हर नागरिक उठाएगा हथियार, रूस से जंग पर यूक्रेन की प्लानिंग

नयी दिल्ली 23 फरवरी 2022 ।  रूस और यूक्रेन के बीच बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। यूक्रेन पर रूस के हमले का खतरा मंडरा रहा है। एक रोज पहले रूसी संसद ने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को देश के बाहर सैन्य ताकतों को प्रयोग में लाने की अनुमति दे दी है। ऐसे में बुधवार की रोज यूक्रेन की संसद ने एक कानून के लिए वोटिंग की। जिसमें यूक्रेन के हर नागरिक के पास आत्म रक्षा के लिए हथियार रखने की परमिशन होगी। यूक्रेन रूस पर कड़े प्रतिबंध लगाने का आह्वान करते हुए डोनेट्स्क और लुहान्स्क क्षेत्रों के अलावा 30-दिवसीय आपातकाल लगाने की योजना बना रहा है। यूक्रेन और रूस के बीच तनाव दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। रूस के सख्त तेवरों को देखते हुए दुनिया दो खेमों में बंट गई है। अमेरिका, ब्रिटेन और जर्मनी जैसे दिग्गज देश रूस पर कई पाबंदिया लगा चुके हैं। वहीं, दूसरी ओर रूस के रुख पर कोई परिवर्तन नहीं आया है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन कई मंचों पर कह चुके हैं कि यूक्रेन के नाटो में शामिल होने से वो नाराज हैं। उधर, यूक्रेन ने भी रूस के खिलाफ कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। यूक्रेन की संसद हर नागरिक के पास आत्मरक्षा के हथियार रखने का कानून पास कर चुकी है। इसके अलावा यूक्रेन अपने अलगाववादी इलाकों डोनेट्स्क और लुहान्स्क क्षेत्रों के अलावा पूरे देश में 30 दिनों का आपातकाल लगाने की योजना बना रहा है।

हाल ही में यूक्रेन के दो अलगाववादी इलाकों लुहान्सक और डोनेट्स्क को रूस ने स्वतंत्र देश की मान्यता दी और एक रोज पहले रूसी सैनिकों ने इस इलाकों पर कब्जा कर लिया। ऐसे में रूसी हमले की संभावना के बीच यूक्रेन की संसद ने बुधवार को एक अहम कानून को लेकर वोटिंग की। इस कानून के तहत यूक्रेन का हर नागरिक आत्मरक्षा के लिए अपने पास हथियार रख सकता है। संसद के एक अधिकारी ने कहा, “इस कानून को अपनाना पूरी तरह से राज्य और समाज के हित में है। यूक्रेन के नागरिकों के लिए मौजूदा खतरों के कारण इस कानून की आवश्यकता है।” संसद के 351 सांसदों ने रूस के खिलाफ प्रतिबंधों को भी मंजूरी दे दी है। हाल ही में रूस ने पूर्वी यूक्रेन में दो अलगाववादी-नियंत्रित क्षेत्रों की स्वतंत्रता को मान्यता दी है और वहां रूसी सैनिकों की तैनाती का समर्थन किया है।

सैटेलाइट तस्वीरों से खुली रूस की पोल
रूसी राष्ट्रपति पुतिन लगातार कह रहे हैं कि यूक्रेन के साथ उनके कूटनीतिक दरवाजे अभी भी खुले हैं, हालांकि रूस की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जा सकता है। उधर, रूस के दावों की पोल खोलते हुए अमेरिकी निजी कंपनी मैक्सार टेक्नोलॉजीज ने मंगलवार को दावा किया कि सैटेलाइट तस्वीरों ने रूस की पोल खोली है। इन तस्वीरों से पता चलता है कि यूक्रेन की सीमा के पास दक्षिणी बेलारूस में रूस ने 100 से अधिक सैन्य वाहनों और दर्जनों सैन्य तंबू की एक नई तैनाती की है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

नरेश पटेल की एंट्री के कयास ने लिखी हार्दिक पटेल के एग्जिट की पटकथा

नयी दिल्ली 18 मई 2022 । कांग्रेस से लंबे समय से नाराज चल रहे गुजरात …