मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> यह बनने जा रहा देश का ऐसा पहला राज्य जहां संस्कृत में खेलों के ये नाम होंगे

यह बनने जा रहा देश का ऐसा पहला राज्य जहां संस्कृत में खेलों के ये नाम होंगे

रायपुर 13 जून 2019 । भारत के 29 राज्य और 7 केंद्र शासित प्रदेशों में छत्तीसगढ़ देश का पहला ऐसा राज्य बनने जा रहा है जहाँ विभिन्न खेलों के संस्कृत में ये नाम होंगे।
संस्कृत भाषा बचाने की पहल के चलते छत्तीसगढ़ कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार ने यह निर्णय लिया हैं। संस्कृत विद्या मंडलम व्यापक रिसर्च कर चरणबद्ध तरीके से इसे तैयार करेगा। नए शिक्षा सत्र से राज्य के संस्कृत स्कूलों में खेलों को उनके प्रचलित नामों की जगह संस्कृत में पुकारे जाने की तैयारी भी है। खेलकूद प्रतियोगिता में संस्कृत भाषा में ही कॉमेंट्री भी होगी। गौरतलब है कि इस साल यानी 2019 में उत्तरप्रदेश के बनारस जिले की संपूर्णानंद यूनिवर्सिटी में संस्कृत क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। जिसमें खिलाड़ियों ने धोती कुर्ता पहनकर क्रिकेट खेला था। इस पूरे आयोजन में कॉमेंट्री और नियम कायदे भी संस्कृत में ही बोले गए थे।

खेल संस्कृत में होंगे ये नाम
क्रिकेट कंदुक क्रीडा
फुटबाल पाद कंदुकम
बास्केटबॉल हस्तपाद कंदुकम
वालीबॉल अपाद कंदुकम
टेबल टेनिस उत्पीठिका कंदुकम
बैडमिंटन खगक्षेपण क्रीडा
दौड़ धावनम
कबड्डी रुद्धयते बाध्यते
खोखो खो गति प्रतिघात
कुश्ती मल्लयुद्धम

इन शब्दों को संस्कृत में ये बोला जाएगा
– क्रिकेट में जोरदार चौके के लिए- सिद्ध चतुष्कम

– रन के लिए- धावनांक

– आउट के लिए- निर्गत

– कैच के लिए- ग्रहणम

– शानदार शॉट के लिए – षुष्ठु प्रहार

– गेंद के बाउंड्री पार करने पर – कंदुक परिधि लंघनमः
– इनका कहना
संस्कृत स्कूलों में अभी योग अभ्यास के दौरान छात्रों को निर्देश संस्कृत में ही दिए जाते हैं। बाकी खेलों में संस्कृत के प्रयोग से इस भाषा का प्रसार व्यापक होगा।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

किश्तवाड़ में बादल फटने से पांच की मौत, 40 से ज्यादा लोग लापता

नई दिल्ली 28 जुलाई 2021 ।  जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश का कहर देखने को मिला …