मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> लॉकडाउन में कारों की देखरेख का यह है तरीका

लॉकडाउन में कारों की देखरेख का यह है तरीका

नई दिल्ली 7 अप्रैल 2020 ।  भारत में 21 दिन का लॉकडाउन लगा हुआ है। ऐसे में घर से निकलना बिलकुल बंद ही हो गया है। इस कारण कार लंबे समय तक एक जगह खड़ी रहती है तो इन्हें कुछ समय बाद चालू करने पर काफी परेशानियां आ सकती हैं। इसी को ध्‍यान में रखकर ऑटो कंपनियों ने ग्राहकों को ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम और अन्य मोबाइल एप्लिकेशन के जरिए वाहन की सुरक्षा के बारे में सुझाव साझा किया है।देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी अपने ग्राहकों को नियमित रखरखाव के टिप्स भेजी है। कार निर्माता ने एसएमएस भेज कर अपने ग्राहकों को बताया कि महीने में एक बार 15 मिनट के लिए इंजन को चालू रखें। वहीं एसएचवीएस वाहनों के लिए, हेडलाइट्स के साथ इंजन को चालू रखने और कम से कम 30 मिनट के लिए महीने में एक बार चालू करने की सलाह दी है। वहीं ऑटोमेकर सोशल मीडिया पर बैटरी और हैंड-ब्रेक के रखरखाव से संबंधि‍त सलाह भी साझा की। लंबी अवधि के लिए अप्रयुक्त वाहनों को छोड़ना आमतौर पर वाहनों के लिए बुरा हो सकता है।

मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक पार्थो बैनर्जी ने जानकारी दी कि हम अपने ग्राहकों को कार के रखरखाव के सुझावों पर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से दैनिक संदेश और छोटे वीडियो साझा कर रहे हैं। हम उन सभी ग्राहकों को ब्रेकडाउन समर्थन भी प्रदान कर रहे हैं, जिन्हें आवश्यक सेवाओं के लिए या किसी आपात स्थिति के कारण यात्रा करनी पड़ती है। वहीं ऑटोमेकरों ने ग्राहकों के ल‍िए हेल्पलाइन भी खोली हैं जिन्हें वाहन रखरखाव और सेवा संबंधी सहायता के लिए कहा जा सकता है। वहीं महिंद्रा एंड महिंद्रा अपने विथ यू हमेशा वेबसाइट के माध्यम से अपने ग्राहकों को सहायता प्रदान कर रहा है।

ठ‍ीक इसी तरह, हुंडई ने ग्राहकों की सहायता के लिए 1,000 डोरस्टेप लाभ बाइक / आपातकालीन सड़क सेवा कारों को तैनात किया है। इसकी वेबसाइट पर एक संदेश में कहा गया है कि समर्थन की उपलब्धता पूर्ण लॉकडाउन के मद्देनजर स्थानीय अधिकारियों की मंजूरी के अधीन है। इसके साथ ही दोपहिया वाहन निर्माताओं ने भी साझा सलाह दी है। टीवीएस मोटर कंपनी और यामाहा मोटर इंडिया ने अपने ट्विटर हैंडल ग्राफिक्स पर साझा करते हुए बताया कि कैसे लोगों को मुख्य स्टैंड पर अपनी मोटरसाइकिल खड़ी करनी चाहिए और साथ ही लॉकडाउन अवधि के दौरान सप्ताह में कम से कम दो बार इंजन चलाना चाहिए।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

मोदी सरकार के आर्थिक सुधार कार्यक्रमों के सुखद परिणाम अब नजर आने लगे हैं

नई दिल्ली 20 सितम्बर 2021 । वर्ष 2014 में केंद्र में मोदी सरकार के स्थापित …