मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> इस तरह से कांग्रेस ने किया सवर्णों का समर्थन

इस तरह से कांग्रेस ने किया सवर्णों का समर्थन

नई दिल्ली 7 सितम्बर 2018 । आपको बता दें कि एससी-एसटी कानून में सुप्रीम कोर्ट के संसोधन को संसद में कानून बनाकर खत्म कर चुकी बीजेपी की मुश्किलें बढ़ गई है। दोस्तों SC/ST कानून पर भाजपा के स्टैंड से नाराज सवर्ण जहां उसके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस ने गरीब सवर्णों को दस फीसदी आरक्षण देने का वायदा कर बीजेपी की मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। कांग्रेस पार्टी ने गरीब ब्राह्मण छात्रों को स्कालरशिप दिये जाने का भी समर्थन किया है।

इस तरह से कांग्रेस ने किया सवर्णों का समर्थन

अमर उजाला की खबर के अनुसार कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि ब्राह्मण समाज तमाम मुश्किलों का सामना कर रहा है। युवाओं के पास नौकरी नहीं है और आय का कोई साधन नहीं है। अगर ऐसे में सवर्ण समाज के गरीब छात्रों को स्कालरशिप दिया जाए तो इसमें कुछ भी अनुचित नहीं है। सिंघवी की टिप्पणी उस घटना के बाद सामने आई है जिसमें कांग्रेस के ही एक अन्य नेता रणदीप सुरजेवाला ने ब्राह्मणों को दस फीसदी आरक्षण देने का समर्थन किया है। रणदीप सुरजेवाला ने हरियाणा के कुरुक्षेत्र में बुधवार को आयोजित एक ब्राह्मण सम्मेलन में कहा कि अगर कांग्रेस की सरकार आती है तो ब्राह्मण कल्याण बोर्ड का गठन किया जाएगा।

आपको यह लेख कैसा लगा आप हमें जरूर बताएं ताकि हम राजनीति से जुड़ी इस तरह की खबरें आपको समय समय पर देते रहें। अगर आपको मेरा यह लेख पसन्द आया हो तो मेरे ब्लॉग को फॉलो करना ना भूलें।

राहुल गांधी ने साझा की कैलाश मानसरोवर की तस्वीरें

 कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी कैलाश मानसरोवर यात्रा को लेकर लगातार सुर्खियों में हैं, उनकी यह यात्रा सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई है। इन्हीं चर्चाओं के बीच राहुल ट्विटर पर अपनी यात्रा की तस्वीरें साझा कर रहे हैं। पिछले दो दिन से उन्होंने कैलाश और मानसरोवर की तस्वीरें साझा कर इस माहौल को निर्मल, निर्द्वंद, सुखद और सुकून भरा बताया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने वीरवार को हिमाच्छादित कैलाश की तस्वीर शेयर करते हुए कहा कि विशाल कैलाश के साये में चलने से सकून मिलता है। उन्होंने ट्वीट किया कि इस विशाल पर्वत की छाया में चलना सुखद अनुभूति देता है।   इसके साथ ही उन्होंने कैलाश पर्वत शिखर के उत्तरी मुख की तस्वीर भी पोस्ट की है जो डेरापुक शिविर से खींची गयी है। कांग्रेस अध्यक्ष ने बुधवार को भी मानसरोवर झील की तस्वीरें साझा कर लिखा था कि यहां का पानी बहुत मंद और शांत है। वो सब कुछ देता है और कुछ नहीं खोता। कोई भी यहां का पानी पी सकता है। यहां द्वेष नहीं है। यही कारण है कि हम भारत में इस पानी की पूजा करते हैं। इससे पहले उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि जब बुलावा आता है तब कोई व्यक्ति कैलाश जाता है। मैं इस बात से बहुत प्रसन्न हूं कि मुझे यह अवसर मिला और इस सुंदर यात्रा में जो देखूंगा उसे आप लोगों के साथ साझा कर सकूंगा। राहुल 31 अगस्त को इस यात्रा के लिए नेपाल रवाना हुए थे जहां से उन्होंने कैलाश के लिए प्रस्थान किया।  दिल्ली से नेपाल के लिए रवाना होने से पहले उनके विमान में अचानक तकनीकी खराबी आ गई थी और वह कई हजार फुट नीचे आ गया था। इसके बाद उन्होंने दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित कांग्रेस की रैली में इस घटना का जिक्र करते हुए कहा था कि उन्होंने कैलाश मानसरोवर यात्रा का संकल्प लिया है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Facebook न्यूज़ इंडस्ट्री को 3 साल में 1 अरब डॉलर का करेगा भुगतान

नई दिल्ली 26 फरवरी 2021 । Google के नक्शे-कदम पर चलते हुए सबसे बड़े सोशल …