मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> उद्धव ठाकरे ने कहा ‘महाराष्ट्र में NRC नहीं आने देंगे’

उद्धव ठाकरे ने कहा ‘महाराष्ट्र में NRC नहीं आने देंगे’

महाराष्ट्र 3 फरवरी 2020 । महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि वह महाराष्ट्र में एनआरसी (National Register Of Citizenship) लागू नहीं होने देंगे, क्योंकि इससे हिंदुओं को भी अपनी नागरिकता साबित करने में दिक्कत होगी. उद्धव ठाकरे ने नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के बारे में भी अपनी राय पेश करते हुए कहा कि इस कानून के तहत किसी को भी देश से बाहर निकाला जा सकता है, इसलिए मैं इसे यहां नहीं आने दूंगा. उद्धव ठाकरे कि इस बयान को लेकर बॉलीवुड डायरेक्टर संजय गुप्ता (Sanjay Gupta) ने ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर खूब वायल हो रहा है. उन्होंने उद्धव ठाकरे के बयान पर अपना रिएक्शन देते हुए कहा कि हमें आप पर गर्व है. संजय गुप्ता (Sanjay Gupta) ने उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के एनआरसी (NRC) और सीएए (Citizenship Amendment Act) को लेकर आए बयान के बाद सोशल मीडिया पर उनकी तारीफों के पुल बांध दिये. उन्होंने ट्वीट कर कहा, “आपके ऊपर गर्व है सर.” बता दें कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपने इंटरव्यू में कहा, “एनआरसी के तहत ना केवल मुस्लिम बल्कि हिंदुओं को भी अपनी नागरिकता साबित करने में दिक्कत होगी. इसलिए मैं एनआरसी को यहां नहीं आने दूंगा.” बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता पंजीकरण को लेकर देश के कई हिस्सों में जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen Bag) से लेकर जामिया (Jamia), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कई क्षेत्रों और देश के कई हिस्सों में लोग नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. लेकिन बीती रात दिल्ली में जामिया के पास दो बदमाशों ने गोलीबारी की, हालांकि इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं आई है. इस मामले पर वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भारतीय दंड संहिता और सशस्त्र अधिनियम की प्रासंगिक धाराओं के तहत हत्या की कोशिश का एक मामला दर्ज किया गया है और जांच जारी है.

CAA और NRC पर आया CM उद्धव ठाकरे का बयान

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने संकेत दिए हैं कि वह संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन एनआरसी और एनआरपी का विरोध करेंगे. लेकिन उद्धव ठाकरे की शिवसेना की महाराष्ट्र में सहयोगी पार्टी कांग्रेस और एनसीपी एनपीआर और एनआरसी सहित नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ भी हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक उद्धव ठाकरे ने पार्टी के मुखपत्र सामना को इंटरव्यू देते हुए कहा, ‘नागरिकता संशोधन कानून के तहत किसी को भी देश से बाहर नहीं निकाला जा सकता.’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हालांकि वह महाराष्ट्र में एनआरसी लागू नहीं होने देंगे, क्योंकि इससे हिंदुओं को भी अपनी नागरिकता साबित करने में दिक्कत होगी.
मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा, ‘एनआरसी के तहत ना केवल मुस्लिम बल्कि हिंदुओं को भी अपनी नागरिकता साबित करने में दिक्कत होगी. इसलिए मैं एनआरसी को यहां नहीं आने दूंगा.’ एएनआई के मुताबिक ठाकरे का इंटरव्यू पार्टी नेता और सामना के संपादक संजय राउत ने लिया है.

नागरिकता कानून को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. देश की राजधानी दिल्ली में भी कई जगहों पर लोग कई दिनों से प्रदर्शन पर बैठे हैं. वहीं, जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के बाहर रविवार रात दो बदमाशों के कथित गोलीबारी करने की घटना में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. घटना में कोई हताहत नहीं हुआ. संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए बनाए गए विश्वविद्यालय के छात्रों और पूर्व छात्रों के समूह ‘जामिया समन्वय समिति’ (जेसीसी) के एक बयान के अनुसार हमलावर लाल रंग की मोटरसाइकिल पर आए थे. बयान में कहा गया है कि एक बदमाश ने लाल रंग की जैकेट पहन रखी थी.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भारतीय दंड संहिता और सशस्त्र अधिनियम की प्रासंगिक धाराओं के तहत हत्या की कोशिश का एक मामला दर्ज किया गया है और जांच जारी है. जामिया नगर में इस एक ही सप्ताह में गोलीबारी की यह तीसरी घटना है. गौरतलब है कि शाहीन बाग इलाके में सीएए के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के दौरान शनिवार को 25 वर्षीय एक युवक ने हवा में गोली चलाई थी. उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. इससे पहले गत गुरुवार को एक व्यक्ति ने सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाई थी जिसमें जामिया मिल्लिया इस्लामिया का एक छात्र घायल हो गया था.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

चीन नहीं, हिमाचल में तैयार होगा दवाइयों का सॉल्ट, खुलेगा देश का पहला एपीआई उद्योग

नई दिल्ली 01 अगस्त 2021 । नालागढ़ के पलासड़ा में एक्टिव फार्मास्यूटिकल इनग्रेडिएंट (एपीआई) उद्योग …