मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> रामदेव के बयान से उमा भारती आहत, कहा- आपने मेरे आत्‍मसम्‍मान को चोट पहुंचाई

रामदेव के बयान से उमा भारती आहत, कहा- आपने मेरे आत्‍मसम्‍मान को चोट पहुंचाई

नई दिल्ली 2 जुलाई 2018 । गंगा सफाई कार्यक्रम को लेकर बाबा रामदेव द्वारा नितिन गडकरी से तुलना किये जाने की खबर से आहत केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने योग गुरु को पत्र लिखकर कहा है कि उनके मुंह से निकला ऐसा कोई भी जुमला उन्हें (उमा भारती) हानि पहुंचा सकता है. बाबा रामदेव को लिखे पत्र में उमा भारती ने कहा, ‘मुझे आपके द्वारा गंगा की विवेचना करते समय दो मंत्रियों की तुलना करना अजीब लगा. मैं स्वयं भी नितिन गडकरी जी की प्रशंसक हूं.’

उन्होंने कहा, ‘पूरी दुनिया के सामने लंदन से किसी टीवी चैनल पर मेरे बारे में चर्चा करते समय शायद यह आपको ध्यान नहीं रहा कि आप मुझे निजी तौर पर आहत और मेरे आत्मसम्मान पर आघात कर रहे हैं. आठ साल की उम्र से अभी तक इन 50 सालों में घोर परिश्रम, विचारनिष्ठा और राष्ट्रवाद मेरी शक्ति हैं और इसी विश्वसनीयता ने राजनीति में मुझे उचित स्थान दिलाया है.’

उन्होंने कहा, ‘आप मेरे मार्गदर्शक रहे हैं. अक्टूबर महीने में गंगोत्री से गंगासागर तक लाखों लोग गंगा के किनारे स्वच्छता और वृक्षारोपण कार्यक्रम में भागीदारी करेंगे. मैं आपसे और सभी संतों से इसके लिए निवेदन करती हूं.’

उल्लेखनीय है कि लंदन में एक टीवी चैनल से बातचीत में योगगुरू रामदेव ने गंगा स्वच्छता कार्यक्रम के संदर्भ में एक सवाल के जवाब में कहा था कि उमा की फाइल ऑफिस में अटक जाती है जबकि गडकरी की फाइल नहीं अटकती. उन्होंने कहा था कि देश में सबसे ज्यादा किसी मंत्री का काम दिखता है तो वह नितिन गडकरी का है.

हरिद्वार में बोले शिवराज सिंह- मंदसौर दुष्कर्म के आरोपियों को जब तक फांसी नहीं होगी चैन नहीं मिलेगा

दो दिन के लिए हरिद्वार पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा है कि जब तक मंदसौर दुष्कर्म मामले के आरोपियों को फांसी पर नहीं लटकाया जाता वह चैन से नहीं बैठेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा की पीड़िता मेरी बेटी की तरह है। उसकी हालत में सुधार हो रहा है। इधर प्रदेश के गृहमंत्री ने कहा है कि जरूरत पड़ी तो बच्ची को इलाज के लिए विदेश भेजा जाएगा और जांच में अगर स्कूल की लापरवाही सामने आई तो प्रबंधन पर भी एक्शन लिया जाएगा।

शनिवार को पत्नी साधना सिंह सहित हरिद्वार पहुंचे मुख्यमंत्री रविवार सुबह हरिद्वार में भारत माता मंदिर में दर्शन करने पहुंचे थे। मुख्यमंत्री के यहां आने की सूचना लगते ही मीडिया का जमावड़ा मंदिर के बाहर और अंदर लग गया।

शिवराज सिंह चौहान जैसे ही मंदिर पहुंचे उन्हें मीडिया ने घेर लिया और मंदसौर दुष्कर्म मामले पर सवाल किए। मुख्यमंत्री ने कहा कि घटना बेहद दुखद है। वे खुद दिन में कई बार पीड़िता के सेहत के बारे में जानकारी लेते हैं।

मुख्यमंत्री पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि वह खुद चाहते हैं कि इस मामले में आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी पर लटकाटा जाए। और जब तक आरोपियों को फांसी पर नहीं लटकाया जाएगा उन्हें चैन नहीं मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने रामदेव को क्रांतिकारी युगपुरुष बताते हुए कहा कि आज योग गुरु ने योग को जन आंदोलन बना दिया है। योग से स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक स्तर भी मजबूत होता है। आत्मा से परमात्मा का मिलन कराता है।
उन्होंने कहा कि योग गुरु बाबा रामदेव ने स्वदेशी आंदोलन को जन जन तक पहुंचाया है। भारत को सफल और समर्थ बनाने का काम किया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में कृषि उपज चरम पर है। किसानों को उत्पादन का वाजिब दाम मिले और उपजाऊ का वैल्यू एडिशन मिले, इसके लिए भी उन्होंने बाबा रामदेव का मार्गदर्शन लिया।

भारत माता मंदिर में किए दर्शन

हरिद्वार शनिवार को पहुंचने के बाद मुख्यमंत्री सबसे पहले भारत माता मंदिर में पूजा-अर्चना की। इसके बाद उन्होंने मंदिर महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरी जी से बातचीत की। और उन्हें भोपाल आने का आमंत्रण दिया।

बाबा रामदेव से भी मिले

– मुख्यमंत्री ने पातंजलि आश्रम पहुंच बाबा रामदेव से मुलाकात की। मुख्यमंत्री में बाबा रामदेव द्वारा शुरू किए जा रहे प्रोजेक्ट पर चर्चा की। उनकी शाम तक गायत्री शक्तिपीठ के प्रमुख डॉ. प्रणव पंड्या से मिलने का कार्यक्रम भी है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को हरिद्वार के कनखल स्थित हरिहर आश्रम पहुंचे हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फ्रांस से भारत आएंगे 4 और राफेल लड़ाकू विमान, 101 स्क्वाड्रन को फिर से जिंदा करने के लिए IAF तैयार

नई दिल्ली 15 मई 2021 । राफेल लड़ाकू विमान का एक और जत्था 19-20 मई …