मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> बेरोजगार युवाओं को बनाया जायेगा उद्योगपति एवं व्यवसायी

बेरोजगार युवाओं को बनाया जायेगा उद्योगपति एवं व्यवसायी

नई दिल्ली 15 दिसंबर 2019 । राज्य शासन द्वारा बेरोजगार युवाओं को आर्थिक गतिविधियों से जोडने के लिये मुख्य मंत्री युवा उद्यमी योजना क्रियांवित की जा रही है। इस योजना के अंतर्गत अनुसुचित जाति के बेरोजगार युवाओं को उद्योगपति एवं व्यवसायी बनाने के लिये दो करोड़ रूपये तक का ऋण एवं अनुदान दिया जायेगा । इसके लिये आवेदन आमंत्रित किये गये है। जिला अन्त्यावसायी सहकारी कार्यालय के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.एल. जाट ने बताया की इच्छुक युवा 31 दिसम्बर तक ऋण के लिये आवेदन कर सकते है। यह आवेदन उन्हें एम.पी. आनलाइन के https://scwelfare.mponline.gov.in/portal से करना होगा। जिले में योजना के अंतर्गत अनुसुचित जाति के 15 युवाओं लाभांवित करने का लक्ष्य रखा गया है, इन युवाओं 30 करोड़ रूपये का ऋण दिया जायेगा। उन्हें 45 लाख रूपये का अनुदान भी मिलेगा। योजना के अंतर्गत उद्योग, सेवा एवं व्यवसाय के लिये 10 लाख रूपये से लेकर 2 करोड़ रूपये तक का ऋण देने का प्रावधान है। स्वीकृत ऋण का 15 प्रतिशत अधिकतम 12 लाख रूपये मार्जिन मनी अनुदान तथा 5 प्रतिशत  ब्याज अनुदान 7 वर्ष तक दिया जायेगा। योजना के अंतर्गत लाभ लेने के लिये इच्छुक युवा के पास सक्षम अधिकारी द्वारा जारी जाति प्रमाण पत्र होना जरूरी है। युवा की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 10 वीं उत्तीर्ण और आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होना चाहिए। आवेदक को आवेदन के साथ परियोजना प्रतिवेदन, (सीए) जाति प्रमाण पत्र, मतदाता परिचय पत्र, आधार कार्ड, पेनकार्ड, समग्र आईडी, शैक्षणिक योग्यता की मार्कशीट, असंगठित श्रमिक का पंजीयन एवं अन्य प्रमाण पत्र संलग्न करना होगा। योजना के संबंध में विस्तृत जानकारी कलेक्टर कार्यालय स्थित जिला अन्त्यावसायी सहकारी कार्यालय से प्राप्त की जा सकती है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

डेल्टा प्लस वैरिएंट के साथ-साथ बढ़ने लगे कोरोना के मामले

नई दिल्ली 25 जून 2021 ।  महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट के …