मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव 2020ः सर्वे में डेमोक्रेट प्रत्याशियों से पिछड़े ट्रंप

अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव 2020ः सर्वे में डेमोक्रेट प्रत्याशियों से पिछड़े ट्रंप

वाशिंगटन 09 जुलाई 2019 । अमरीकी राष्ट्रपति पद के लिए 2020 में होने वाले चुनाव में अपने दूसरे कार्यकाल के लिए प्रचार अभियान शुरू कर चुके डोनाल्ड ट्रंप लोकप्रियता में डेमोक्रेट प्रत्याशियों से पिछड़ रहे हैं। अमरीका में अगले वर्ष राष्ट्रपति चुनाव होने हैं। हालांकि अभी डेमोक्रेट प्रत्याशी तय होना है। डेमोक्रेट प्रत्याशी की दौड़ में पूर्व उप राष्ट्रपति जोय बिडन, सीनेटर कमला हैरिस, सीनेटर बर्नी सेंडर्स, सीनेटर एलिजाबेथ वारेन और मेयर पीट बुत्तिजिएग हैं।

वाशिंगटन पोस्ट और एबीसी न्यूज द्वारा पंजीकृत वोटरों के बीच कराए गए अलग-अलग सर्वे में ट्रंप से जोय बिडन दस अंक आगे, कमला हैरिस 2 अंक आगे और सीनेटर बर्नी सेंडर्स एक अंक आगे हैं, जबकि एलिजाबेथ वारेन और साउथ बैंड इंडियाना के मेयर बुत्तिजिएग से उनका मुकाबला बराबरी का है। दूसरी ओर ट्रंप को दूसरा कार्यकाल देने के लिए सिर्फ 43 फीसदी लोगों ने ही पसंद किया। तीन फीसदी वोटर किसी नतीजे पर नहीं थे।

प्रधानमंत्री पद की सशक्त दावेदार है भारतवंशी महिला, जुटाया 2.3 करोड़ डॉलर का फंड
कैलिफोर्निया की शक्तिशाली एवं भारतीय मूल की डेमोक्रेटिक सांसद कमला हैरिस ने प्रधानमंत्री पद की दावेदारी की जनवरी में घोषणा करने के बाद से अब तक 2.3 करोड़ डॉलर फंड जुटाया है। राष्ट्रपति चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के 20 से अधिक दावेदारों में से एक हैरिस पूर्व अमेरिकी उपराष्ट्रपति जो बिडेन को कांटे की टक्कर दे रही हैं, खासकर हाल में हुई पहली प्राइमरी चर्चा के दौरान प्रभावी ढंग से अपनी राय रखने के बाद से।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए हैरिस के अभियान ने 2019 की दूसरी तिमाही में दो लाख 79 हजार से अधिक लोगों से करीब 1.2 करोड़ डॉलर जुटाए हैं। उन्होंने इस अभियान के तहत 2.3 करोड़ डॉलर एकत्रित किए हैं। दूसरी तिमाही के दौरान हैरिस के अभियान में लगभग डेढ़ लाख नये दानकर्ताओं ने योगदान दिया है। अभियान की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक हैरिस ने अपने डिजिटल कार्यक्रम के माध्यम से ही 70 लाख डॉलर से अधिक की राशि जुटा ली है।

जोय बिडन ने माफी मांगी
अमरीका के पूर्व उपराष्ट्रपति जोय बिडन ने अलगाववादी सांसदों का समर्थन करने वाली अपनी टिप्पणी के लिए आखिरकार शनिवार को माफी मांग ली। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल के दौरान उपराष्ट्रपति रहे बिडन पिछले महीने उस वक्त विवाद में घिर गए थे, जब उन्होंने दिवंगत सिनेटर जेम्स इस्टलैंड और हर्मन तलमाडगे के साथ अपने व्यक्तिगत संबंधों पर बयान दिया था। दरअसल, इन दोनों सिनेटरों ने नस्लवादी नीतियों का समर्थन किया था।
बिडेन ने टिप्पणी में कहा था कि इस्टलैंड ने कभी मुझे ‘ब्वॉय’ नहीं कहा, वह मुझे हमेशा ‘बेटा’ कहा करते थे। उनकी इस टिप्पणी के बाद अगले साल होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के कई दावेदारों ने उनके बयान की आलोचना की थी। बिडन अपने बयान पर अडिग रहे और माफी मांगने से इनकार कर दिया था, लेकिन आखिरकार शनिवार को उन्होंने माफी मांग ली। दक्षिण कैरोलीना में अपने भाषण के दौरान बिडेन ने कहा कुछ सप्ताह पहले बयान देकर मैंने गलत किया । इससे ऐसी धारणा बनी कि मैंने उन सबकी तारीफ की, जिनका मैं अक्सर विरोध करता था। निश्चित तौर पर मुझे इसका अफसोस है। मेरे बयान से कोई आहत हुआ हो तो इसका मुझे अफसोस है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

सुनील गावस्कर ने बताया, महेंद्र सिंह धोनी के बाद कौन सा बल्लेबाज नंबर-6 पर बेस्ट फिनिशर की भूमिका निभा सकता है

नयी दिल्ली 22 जनवरी 2022 । दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट के बाद भारत को …