मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> बंगाल में हिंसा का ‘खेला’ अब भी जारी? BJP नेता की गोली मारकर हत्या, TMC पर लगा आरोप

बंगाल में हिंसा का ‘खेला’ अब भी जारी? BJP नेता की गोली मारकर हत्या, TMC पर लगा आरोप

नई दिल्ली 18 अक्टूबर 2021 । पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव हुए भले ही करीब 6 महीने बीतने को हैं, लेकिन राजनीतिक हिंसा का खेल अब भी जारी है। अब उत्तर दिनाजपुर जिले में भाजपा के एक कार्यकर्ता मिथुन घोष की गोली मारकर हत्या का मामला सामने आया है। अब तक घोष के हत्यारों की पहचान नहीं हो सकी है, लेकिन बीजेपी ने इसका सीधा आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगाया है। घोष की हत्या उनके गांव राजग्राम में घर के बाहर ही गोली मारकर अज्ञात बदमाशों ने कर दी थी। भाजपा का कहना है कि टीएमसी के अराजक तत्वों ने इस घटना को अंजाम दिया है। वहीं ममता बनर्जी की पार्टी ने इन आरोपों को खारिज किया है। इस घटना को लेकर राज्य के नेता विपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने भी टीएमसी पर हमला बोला है। शुभेंदु ने ट्वीट किया, ‘भाजपा युवा मोर्चा के नेता मिथुन घोष की इटाहार में गोली मारकर हत्या कर दी गई। यह टीएमसी का काम है।’

यह घटना रविवार देर रात 11 बजे के करीब हुई, जब मिथुन घोष राजग्राम गांव में अपने घर के बाहर खड़े थे। दो मोटरसाइकिलों पर आए बदमाशों ने बेहद करीब से उन्हें निशाना बनाकर गोली मारी। पेट में गोली लगने के चलते उनकी मौत हो गई। हमले के तुरंत बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस हत्या ने एक बार फिर से प्रदेश का सियासी तापमान बढ़ा दिया है। भाजपा के उत्तर दिनाजपुर जिले के अध्यक्ष बासुदेब सरकार ने कहा, ‘मिथुन घोष जिले की पार्टी की यूथ विंग के सचिव थे। उनका घर इटाहार विधानसभा के राजग्राम गांव में था। उन्हें पहले भी कई बार फोन पर धमकियां मिल चुकी थीं। हमने इस बारे में पुलिस से भी शिकायत की थी, लेकिन कोई ऐक्शन नहीं लिया गया।’आवाज लगाई और घर से निकलने पर मार दी गोली

सरकार ने कहा कि हमें रात को करीब 11:30 बजे मिथुन घोष की हत्या की खबर मिली। किसी ने उन्हें बुलाया और जब वह घर के बाहर निकले तो उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन पहले ही उनकी मौत हो चुकी है। हमें पूरा यकीन है कि टीएमसी के गुंडों ने ही इस घटना को अंजाम दिया है। हमें कानून पर भरोसा है। हम इस मामले में एफआईआर कराएंगे और पुलिस की ओर से कार्रवाई का इंतजार करेंगे। हम इस मामले में सही ट्रायल चाहते हैं। दूसरी तरफ इटाहार से टीएमसी विधायक मुशर्रफ हुसैन ने कहा कि हमारा इससे कोई लेना-देना नहीं है। हुसैन ने कहा कि घोष पर रात को हमला हुआ है। यह भी हो सकता है कि घोष को किसी विवाद में मारा गया हो। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस हत्या की राजनीति में यकीन नहीं रखती है। सीएम ने हमें समाज में शांति और सद्भाव बनाए रखने का आदेश दिया है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …