मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> Coronavirus की वजह से भारत और दूसरे देशों में अब तक क्या-क्या बंद हुआ

Coronavirus की वजह से भारत और दूसरे देशों में अब तक क्या-क्या बंद हुआ

नई दिल्ली 19 मार्च 2020 । दुनियाभर में पैर पसार चुके जानलेवा कोरोना वायरस ने आठ हजार से ज्यादा लोगों की जान ले ली है. भारत में अब तक इस वायरस से तीन लोगों की मौत हुई है. भारत में कोरोना के पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 151 हो गई है. भारत सहित दूसरे देशों में एहतियातन कई चीजों पर रोक लगा दी गई है. अलग-अलग देशों में नागरिकों को एडवाइजरी भी जारी की गई है ताकि इस वायरस को फैलने से रोका जाए.

भारत में क्या-क्या बंद हुआ?

दिल्ली- एम्स ने ओपीडी में कम लोगो को आने की सलाह दी है. भारत में अमेरिकी दूतावास ने अपने सभी नियमित वीज़ा सम्बन्धी सेवाओं को अगले नोटिस तक निलंबित किया. केंद्रीय विद्यालय ने आठवीं तक की सभी परीक्षाएं कैंसिल की. अब 31 मार्च तक आठवीं तक के किसी भी बच्चे को स्कूल आने की जरूरत नहीं. केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले केंद्रीय विद्यालय संगठन ने निर्णय लिया है. जेईई मेन परीक्षा को भी टाल दिया गया है. सीबीएसई ने दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं टाल दी हैं.

मुंबई- आशिक तौर पर मुंबई को बंद कर दिया गया है. देश भर में 31 मार्च तक NRAI के अंतर्गत आने वाले रेस्टोरेंट को बंद करने का निर्देश है. एडवाइजरी जारी की गई है.

जयपुर- मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लिया बड़ा निर्णय कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे प्रदेश में धारा 144 लगाई गई है.

नोएडा- नोएडा का इस्कॉन मंदिर 31 मार्च तक कोरोना की वजह से बन्द रहेगा. पूरे जिले में धारा 144 लागू. गलत सूचना फैलाता पाया गया उस पर भी सख्त करवाई की जाएगी.

लद्दाख- प्रशासन ने 31 मार्च तक मजदूरों के यहां आने पर पूरी तरह से रोक लगा दी है.

वाराणसी- कोरोना वायरस के प्रभाव से यात्रियों की संख्या में भारी कमी को देखते हुए काशी महाकाल एक्सप्रेस की निरस्त गई. 19 मार्च से 1 अप्रैल तक ये लागू होगा. इन अवधि में जिन यात्रियों का टिकट बुक है उसका पूरा पैसा किया जाएगा. बीएचयू प्रशासन ने छात्रों से छात्रावास खाली करने की अपील की. 31 मार्च तक बीएचयू में सभी पाठ्क्रम बंद हैं. बीएचयू हॉस्टल को खाली कराने का बीएचयू प्रशासन की कार्रवाई जारी.

हरिद्वार- पैड़ी पर होने वाली गंगा आरती में आने वाले लोगों की सुरक्षा को देखते हुए आरती स्थल पर लोगों के प्रवेश को 31मार्च तक प्रतिबंधित करने के आदेश दिया गया है.

गुरुग्राम- सभी मॉल्स , नाईट क्लब , लाउंज जैसी जगहें बंद करने का आदेश है.

देहरादून- कोरोना की वजह से उत्तराखंड सचिवालय 1 सप्ताह के लिए बंद किया गया. कर्मचारी घर से काम करेंगे. मॉल, धार्मिक स्थल सभी बंद.

पुरी- पुरी जिला प्रशाशन ने दो दिनों के भीतर टूरिस्ट से होटल खाली करने को कहा है. अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी.

पटना- सभी शॉपिंग मॉल, जिम और स्वीमिंग पूल 31मार्च तक बंद रहेंगे. बिहार के सभी सरकारी स्कूल भी बंद रहेंगे.

नागपुर- सभी रेस्टोरेंट, बार, शराब की दुकानें, पान की दुकानें 31 मार्च तक बंद रहेंगी.

दुनिया के दूसरे देशों में क्या-क्या बंद हुआ?

तुर्की- रिपोर्ट के मुताबिक ग्रीस और बुलगारिया से लगे बॉर्डर को बंद करने वाली है.

यूएई- नागरिकों के विदेश दौरे पर बैन लगा दिया है.

स्पेन- सभी होटलों को बंद करने का आदेश दिया है. कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए ये फैसला लिया गया है.

न्यूयॉर्क- वॉल स्ट्रीट एक हजार प्वाइंट गिर गया.

1985 के बाद पाउंट निचले स्तर पर चला गया है.

पुर्तगाल- स्टेस इमरजेंसी की घोषणा की गई है.

श्रीलंका- यूएस स्टेट डिपार्टमेंट ने कहा कि श्रीलंका सभी इंटरनेशनल एयरपोर्ट को आने वाले यात्रियों के लिए बंद कर रहा है.

चिली- 90 दिनों के लिए स्टेट इमरजेंसी का एलान किया गया है.

रिसर्च में चौंकाने वाला दावा, A ब्लड ग्रुप के लोगों को है ज्यादा खतरा

कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है. दुनिया में अब तक इस वायरस की वजह से लगभग आठ हजार लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं भारत में भी कोरोना ने अपने पैर पसार लिए हैं. भारत में कोरोना वायरस के 137 मामले सामने आ चुके हैं. भारत में इस वायरस की वजह से 3 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं एक रिसर्च में सामने आया है कि A ब्लडग्रुप के लोगों को कोरोना वायरस से ज्यादा खतरा है.

चीन की एक रिसर्च में पाया गया है कि A ब्लडग्रुप वाले लोगों को कोरोना वायरस से ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. वहीं जिनका O ब्लडग्रुप है वह कोरोना वायरस के प्रतिरोधी हो सकते हैं. कोरोना वायरस को लेकर ये रिसर्च चीन के वुहान और शेन्जेन शहर में किया गया. जिसमें पाया गया कि मरने वाले लोगों में जिन लोगों का A ब्लडग्रुप था उनकी संख्या ज्यादा है. साथ ही A ब्लडग्रुप के लोग की इस वायरस से ज्यादा संक्रमित हैं. रिसर्च में पाया गया कि जिन लोगों का O ब्लडग्रुप है उन लोगों की संख्या मरने वाले लोगों में कम है.

रिसर्च में पाया गया कि A ब्लडग्रुप के 38 फीसदी लोगो कोरोना से संक्रमित हैं. वहीं O ब्लडग्रुप के 26 फीसदी लोग ही इस से संक्रमित हैं. वुहान से कुछ दूर स्थित सेंटर फॉर एविडेंस-बेस्ड एंड ट्रांसलेशनल मेडिसिन में ये रिसर्च किया जा रहा है. रिसर्च में वायरस से मरने वाले 206 रोगियों की भी जांच की गई. जिनमें 85 पीड़ितों या 41.26 प्रतिशत लोगों का A ब्लडग्रुप था. वहीं सिर्फ 52 लोगों का O ब्लडग्रुप था. बता दें कि दुनिया में लगभग दो लाख कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

बिना लगेज सफर करने वाले एयर पैसेंजर्स को किराए में छूट मिलेगी

नई दिल्ली 27 फरवरी 2021 ।  डोमेस्टिक एयर पैसेंजर्स को अब बैगेज नहीं ले जाने …