मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> WHO ने घोषित किया महामारी, डोनाल्ड ट्रंप ने यूरोप से अमेरिका यात्रा पर लगाई 30 दिन की रोक

WHO ने घोषित किया महामारी, डोनाल्ड ट्रंप ने यूरोप से अमेरिका यात्रा पर लगाई 30 दिन की रोक

नई दिल्ली 12 मार्च 2020 । कोराना वायरस (Coronavirus) के कहर को देखते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यूरोप से अमेरिका की सभी यात्राओं पर 30 दिन के लिए बैन लगा दिया है. अमेरिका का यह फैसला विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा कोरोना वायरस को महामारी घोषित किए जाने के एक दिन बाद आया है. कोरोना को महामारी घोषित करते हुए WHO ने कहा कि इस वायरस से अब तक विश्व भर में 4300 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, इसलिए इसे महामारी कहा जा सकता है. बता दें, किसी भी बीमारी को महामारी तब घोषित किया जाता है जब वह एक से ज्यादा देशों में फैल जाए और लोगों के सामने जीवन का संकट पैदा कर दे. बीते कुछ दिनों में कोरोना का कहर विश्व भर में देखने को मिला है. यूरोपीय देश इटली ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए ही अपने यहां पूरी तरह लॉक डाउन घोषित कर दिया है. वहीं खाड़ी देशों ने भी अपने यहां विदेशियों के आने-जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है. भारत में भी 15 अप्रैल तक विदेशियों की एंट्री को बैन कर दिया गया है.एअर इंडिया ने बुधवार की रात कहा कि वह रोम, मिलान और सिओल के लिए अपनी उड़ानें अस्थाई रूप से बंद कर रही हैं. विमानन कंपनी के एक अधिकारी ने बताया कि रोम (इटली) के लिए सेवाएं 15 से 25 मार्च तक बंद रहेंगी. वहीं मिलान (इटली) और दक्षिण कोरिया की राजधानी के लिए उड़ानें 14 से 28 मार्च तक निलंबित रहेंगी. सरकार की ओर से सभी पर्यटक वीजा 15 अप्रैल तक के लिए निलंबित किए जाने के बाद कंपनी ने यह कदम उठाया है.
दिल्ली के रहने वाले 46 वर्षीय एक व्यक्ति में बुधवार को जांच के दौरान कोरोना वायरस की पुष्टि हुई. उस व्यक्ति ने इटली समेत तीन देशों की यात्रा की थी. दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इस मामले के साथ दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या पांच हो गई है. विभाग ने कहा कि व्यक्ति के परिवार में नौ लोग हैं और उसकी माँ को छोड़कर किसी भी सदस्य में संक्रमण के लक्षणों का पता नहीं चला है. संक्रमित व्यक्ति पश्चिमी दिल्ली के जनकपुरी का निवासी है और उसे आरएमएल अस्पताल में भर्ती कराया गया है. सरकार ने कहा कि आस पड़ोस के पचास घरों की निगरानी की जा चुकी है.
भारत में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 67 हो गई. हालांकि भारत ने कोरोना वायरस प्रभावित देशों की यात्रा इतिहास वाले अंतरराष्ट्रीय क्रूज, चालक दल या यात्रियों के प्रवेश पर 31 मार्च तक रोक लगा दी है. ऐसे में जब संक्रमण ने देश में अपना पैर फैलाना जारी रखा है, राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों ने संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए कई कदम उठाये हैं.
इस बीच जम्मू कश्मीर प्रशासन ने जम्मू के पांच जिलों में प्राथमिक स्कूल और आगनवाड़ी केंद्रों को बंद करने का आदेश दिया और ऐहतियात के तौर पर 31 मार्च तक पूरे क्षेत्र में सिनेमा हॉल बंद कर दिए. कर्नाटक सरकार ने एक अस्थायी नियमन जारी किया जिसमें सभी सरकारी और निजी अस्पतालों को ‘फ्लू कार्नर’ बनाने को कहा गया जहां कोरोना वायरस के संदिग्ध मामलों की स्क्रीनिंग की जाएगी.
नियमन के अनुसार कोई भी व्यक्ति या संस्थान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की पूर्व अनुमति के बिना कोरोना वायरस पर गलत सूचना फैलाने के लिए प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का उपयोग नहीं करेगा. यदि कोई व्यक्ति ऐसी किसी गतिविधि में लिप्त पाया गया तो उसे दंडित किया जाएगा. कर्नाटक सरकार ने एक अभियान शुरू किया जिसे ‘नमस्ते ओवर हैंडशेक’ नाम दिया गया है. यह वायरस का प्रसार फैलने से रोकने के लिए लोगों को पारंपरिक भारतीय शैली में अभिवादन करने के लिए प्रोत्साहित करता है.
ऐसे में जब संक्रमित मामलों की संख्या का बढ़ना जारी है, वैश्विक स्तर पर 119,400 से अधिक पुष्ट मामले सामने आए हैं जिनमें से अब तक 4,300 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है.
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने राज्यसभा में एक बयान देते हुए कहा कि इटली और ईरान में स्थिति ‘‘बहुत चिंता का कारण” है और सरकार उपयुक्त जांच और स्क्रीनिंग के बाद भारतीयों को वापस लाने के लिए सभी प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि भारतीयों की स्क्रीनिंग के लिए एक मेडिकल टीम कल इटली रवाना होगी.
जयशंकर ने कहा कि यह बीमारी लगभग 90 देशों में फैल गई है. उन्होंने कहा कि यदि सरकार दुनियाभर से भारतीयों को वापस लाने की प्रक्रिया शुरू करती है तो इससे केवल अफरातफरी मचेगी.
अधिकारियों ने कहा कि 83 लोगों को लेकर एयर इंडिया की एक उड़ान बुधवार को इटली से यहां पहुंची जिसमें से नौ भारतीय मूल के विदेशी शामिल हैं. इन सभी को दिल्ली के मानेसर स्थित सेना की इकाई में पृथक रखा गया है.
अभी तक भारत ने कोरोना वायरस प्रभावित देशों से 948 यात्रियों को निकाला है. इनमें से 900 भारतीय नागरिक जबकि 48 मालदीव, म्यांमार, बांग्लादेश, चीन, अमेरिका, मेडागास्कर, श्रीलंका, नेपाल, दक्षिण अफ्रीका और पेरू सहित विभिन्न देशों के हैं. मंत्रालय ने कहा कि हवाई अड्डे पर अब तक कुल 10,57,506 यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

सुनील गावस्कर ने बताया, महेंद्र सिंह धोनी के बाद कौन सा बल्लेबाज नंबर-6 पर बेस्ट फिनिशर की भूमिका निभा सकता है

नयी दिल्ली 22 जनवरी 2022 । दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट के बाद भारत को …