मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> इस महिला की गिरफ्तारी से दुनिया भर के शेयर बाजारों में भूचाल!

इस महिला की गिरफ्तारी से दुनिया भर के शेयर बाजारों में भूचाल!

नई दिल्ली 7 दिसंबर 2018 । यूरोप और एशिया के शेयर बाजारों में भारी गिरावट देखने को मिल रही है. जापान, चीन और दक्षिण कोरिया के शेयर बाजार 2.5 फीसदी तक लुढ़क गए है. इन्हीं संकेतों का असर भारतीय शेयर बाजार पर दिखा है. बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 572.28 अंक की कमजोरी के साथ 35312.13 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 181.75 अंक की गिरावट के साथ 10601.15 के स्तर पर बंद हुआ है.एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस गिरावट की वजह कनाडा में चीन की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी हुवाई टेक्नोलॉजीज की सीएफओ की गिरफ्तारी है, क्योंकि इससे अमेरिका और चीन के बीच फिर से ट्रेड वॉर गहराने की आशंका बढ़ गई है. साथ ही, क्रूड एक्सपोर्ट करने वाले ओपेक देशों की बैठक पर भी निवेशकों की नज़र टिकी है.

क्या है मामला
कनाडा में ह्युवाई टेक्नोलॉजीज की सीएफओ को ईरान पर यूएस प्रतिबंध तोड़ने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.
अमेरिका ने कनाडा से गिफ्तार सीएफओ के प्रत्यर्पण की मांग की है.
हुवाई टेक्नोलॉजीज चीन की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी है.
ट्रेड वॉर पर यूएस-चीन में सुलह के बीच में ये गिरफ्तारी हुई है.
सीएफओ की गिफ्तारी सुलह की गाड़ी को रोक सकती है। ह्युवाई के अमेरिकी कारोबार पर रोक लग सकती है.

भारतीय शेयर बाजार लुढ़के-गुरुवार के कारोबार में इंडियाबुल्स हाउसिंग, मारुति सुजुकी, टेक महिंद्रा, एचसीएल टेक में सबसे ज्यादा गिरावट देखने को मिली. वहीं, सन फार्मा, जेएसडब्ल्यू स्टील और गेल सबसे ज्यादा बढ़कर बंद हुए. एनबीएफसी और बैंक शेयरों में दबाव साफ दिखा। इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस, एमएंडएम फाइनेंस, श्रेई इंफ्रा, इक्विटास में 4 से 6 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली. वहीं, बैंक शेयरों की भी आज पिटाई हुई. इंडसइंड बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक सभी में 2 फीसदी तक की गिरावट आई है. सरकारी बैंकों में पीएनबी, बैंक ऑफ बड़ौदा और एसबीआई सबसे ज्यादा पिटे हैं.

मारुति के डिमांड आउटलुक पर चिंता से ऑटो सेक्टर भी आज रिवर्स गियर में चला गया. यहां एस्कॉर्ट्स, टीवीएस मोटर्स और टाटा मोटर्स में सबसे ज्यादा गिरावट आई है. इनमें 4 फीसदी तक की गिरावट आज देखने को मिली है। अशोक लेलैंड, हीरो मोटो, एमएंडएम जैसे ऑटो दिग्गजों में भी कमजोरी ही रही.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

ये तो छोड़कर चले गए थे…अशोक गहलोत ने सचिन पायलट गुट के विधायकों पर कसा तंज

नयी दिल्ली 4 दिसंबर 2021 । अशोक गहलोत और सचिन पायलट राजस्थान कांग्रेस में सबकुछ अच्छा …