मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित होने के साथ ही संपत्तियां भी होंगी जब्त

भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित होने के साथ ही संपत्तियां भी होंगी जब्त

नई दिल्ली 6 दिसंबर 2019 । पंजाब नेशनल बैंक घोटाला मामले में देश छोड़कर भागे हीरा व्यापारी नीरव मोदी को आखिरकार भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित कर दिया गया है। जल्द ही उनकी संपत्तियां का जब्त करने का आदेश भी दिया जाएगा।

पंजाब नेशनल बैंक के साथ लगभग 2 अरब डॉलर की हेराफेरी मामले में देश छोड़कर भाग चुके हीरा व्यापारी नीरव मोदी को गुरुवार को विशेष मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम कानून (PMLA) कोर्ट ने पीएनबी घोटाला मामले में भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित कर दिया है।

गौरतलब है कि पीएनबी घोटाले में आरोपी हीरा व्यापारी नीरव मोदी को 19 मार्च को होलबोर्न से गिरफ्तार किया गया था। नीरव और उसके चाचा मेहुल चोकसी के खिलाफ 13,500 करोड़ रुपये की हेराफेरी का आरोप है। इस मामले की जांच प्रवर्तन निदेशालय और सीबीआइ कर रही है। नीरव पर भगोड़े आर्थिक अपराधी अधिनियम के तहत भी आरोप लगाये गये हैं।

पंजाब नेशनल बैंक में 11,300 करोड़ रुपए के इस घोटाले का पर्दाफाश 2018 की शुरुआत में हुआ था।

करोड़ों की हेराफेरी के इस मामले में हीरा व्यापारी नीरव मोदी के अलावा उनकी पत्नी ऐमी, उनके भाई निशाल, और रिश्तेदार मेहुल चोकसी मुख्य अभियुक्त हैं। बैंक ने दावा किया है कि सभी अभियुक्तों ने बैंक अधिकारियों की मिलीभीगत से साजिश रच बैंक को नुकसान पहुंचाया है।

पंजाब नेशनल बैंक ने पहली बार नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और उनके साथियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी। इस शिकायत में उन पर 280 करोड़ रुपए की हेराफेरी का आरोप लगाया था।

चौदह फरवरी को आंतरिक जांच पूरी होने के बाद पीएनबी ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को इस फर्जीवाड़े की जानकारी दी थी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …