मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> सांसद फिरोजिया के प्रयास से राजस्थान के जैसलमेर, रामदेवरा सहित अलग अलग जगह पर मजदूरी करने गए 800 से अधिक मजदूरों का अपने घर पहुचना शुरू

सांसद फिरोजिया के प्रयास से राजस्थान के जैसलमेर, रामदेवरा सहित अलग अलग जगह पर मजदूरी करने गए 800 से अधिक मजदूरों का अपने घर पहुचना शुरू

उज्जैन 29 अप्रैल 2020 । राजस्थान के अलग अलग जिलों में फसे मजदूरों के आने का क्रम शुरू हो गया है।सांसद अनिल फिरोजिया द्वारा मजदूरों को लाने के लिए मुख्यमंत्री से बात कर कलेक्टर को निर्देश देने के बाद राजस्थान- मध्य्प्रदेश की सीमा पर मौजूद 800 से अधिक मजदूरों के आने का क्रम शुरू हो गया है शाम 5 बजे तक 200 से अधिक मजदूर 7 बसों में सवार होकर कृषि उपज मंडी समिति खाचरौद पहुँच गए हैं। यहां पर पहले से मौजूद स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन ने इनका स्वास्थ्य परीक्षण किया। शेष बचे मजदूर भी देर रात तक यहां पहुच जाएंगे।
मंगलवार को यहां पहुँचे मजदूरों की कुशलचेम पूछने ओर उनकी भोजन पानी की व्यवस्थाओं को लेकर पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत, सांसद अनिल फिरोजिया के सहियोगी प्रकाश जैन, मंडल अध्यक्ष दिनेश जाट, चेतन शर्मा, बद्रीलाल सांगितला आदि ने खाचरोद कृषि उपज मंडी पहुँचकर जानकारी ली। दरसल कुछ दिनों पहले राजस्थान के अलग अलग जिलों में फसे मजदूरों की जानकरी मिलने पर सांसद अनिल फिरोजिया के सहायक प्रकाश जैन ने इस बात की जानकारी सांसद अनिल फिरोजिया को दी थी। साथ ही पूर्व विधयक दिलीप सिंह शेखावत ने भी इस बारे में सांसद फिरोजिया से लगातार चर्चा करने के साथ ही कुछ मजदूरों से भी कगातर संपर्क स्थापित कर रखा था। सांसद ने मामले की गंभीरता को देखते हुवे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात करने के साथ ही कलेक्टर उज्जैन शशांक मिश्रा को निर्देशित कर मजदूरों को जल्द से जल्द लाने के निर्देश दिए थे।

बसों के जाने से लेकर आने तक रहे सतत संपर्क में

सोमवार शाम को यहां से बसों के रावना होने से लेकर मंगलवार शाम को बसों के यहां आने तक सांसद अनिल फिरोजिया लगातार बस के साथ गए कर्मचारियों, वहां फसे किसानों व अधिकारियों के संपर्क में रहे। इस दौरान उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग सहित अन्य
जरूरी दिशा निर्देश भी जिम्मेदारों को दिए।

सांसद की सक्रियता के कारण गाँव गाँव के किसानों की बनने लगी सूची

सांसद अनिल फिरोजिया को जानकारी मिली कि बड़ी संख्या में यहां के मजदूर वहां फसे है तो उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को मामले से अवगत करवाने के बाद कलेक्टर को निर्देश दिए कि वे हर गाँव से मजदूरी के लिए दूसरे प्रदेशों में गए मजदूरों की लिस्ट तैयार करे। इसके बाद अमले ने ताबड़तोड़ लिस्ट तैयार की ओर इस लिस्ट के आधार पर सबसे पहले राजस्थान में फसे मजदूरों को लाने का काम किया गया।

ग्राम सचिव को नोट करवाए जानकारी

सांसद फिरोजिया ने लोगों से अपील की है कि वे कही भटके नही, बल्कि अपने ग्राम सचिव को दूसरे प्रदेशों में गए मजदूरों की जानकारी दर्ज करवा दे।

पांच माह से गुमशुदा बौद्धिक दिव्यांग को घर पहुचने में अहम भूमिका निभाई स्नेह ने लवप्रीत आज जबलपुर से निकलेगा 1250 किमी दूर फिरोजपुर के लिए

कोरोना की इस आपा धापी के बीच कुछ कार्य ऐसे भी हो रहे है जो लॉक डाउन के चलते सुखद अनुभूति करा रहे है। ऐसे ही एक कार्य को अंजाम दिया बौद्धिक दिव्यांगो के पुनर्वास और सशक्तिकरण में लगी लायंस ऑफ नागदा की स्थाई परियोजना स्नेह ने।

25 दिसम्बर 2019 को पाकिस्तान की सीमा से लगे पंजाब के फिरोजपुर से 18 वर्षीय बौद्धिक दिव्यांग लवप्रीत ट्रेन में बैठ जबलपुर पहुंच गया। पिछले चार माह से वह जबलपुर में ही भीख मांगकर अपना पेट भर रहा था।

लॉक डाउन के चलते जीआरपी जबलपुर थाना प्रभारी मंजीत सिंह की नजर विगत दिनों उस पर पड़ी तो उन्होंने उसका विडियो सोशल मीडिया पर भेजा और बच्चे को जो पंजाबी ही समझता था जबलपुर के ही एक पंजाबी मित्र प्रीतपाल सिंह जी को देखभाल हेतु सौपा।

विडियो देख कर जालंधर के अमरप्रीत सिंह आनंद जो स्वयं एक अभिभावक भी है ने पता लगाया कि वो फिरोजपुर का है। उन्होंने फिर स्नेह संस्थापक पंकज मारू को 27 अप्रेल को फोन कर लवप्रीत को फिरोजपुर भिजवाने का अनुरोध किया।

चुकि लवप्रीत के पिता का देहांत हो चूका था और माँ मजदूरी करती है ऐसे में परिवार द्वारा इस लॉक डाउन में ले जाने में असमर्थता व्यक्त की। मारू ने फिर इस घटना की जानकारी केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत को देते हुए जबलपुर कलेक्टर भारत यादव से चर्चा कर लवप्रीत को फिरोजपुर भिजवाने का अनुरोध किया।

कलेक्टर ने तुरंत कार्यवाही करते हुए लवप्रीत का मेडिकल करवाया और उसे कार द्वारा मंगलवार 1250 किमी दूर फिरोजपुर के लिए दो कांस्टेबल के साथ रवाना कर रहे है।

मारू ने इस हेतु केन्द्रीय मंत्री गेहलोत, कलेक्टर भारत यादव, अमरजीतसिंह आनद, मंजीतसिंह, प्रीतपालसिंह एवं अभय दुबे के प्रति आभार व्यक्त किया है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फतह मुबारक हो मुसलमानो, भारत के खिलाफ जीत इस्लाम की जीत…जश्न मनाने के बदले जहर उगलने लगा पाक

नई दिल्ली 25 अक्टूबर 2021 । खराब बल्लेबाजी और खराब गेंदबाजी की वजह से टीम …