मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> दुनिया की पहली फ्लाइंग कार को मिली मंजूरी, 10,000 फुट की ऊंचाई तक उड़ने में है सक्षम

दुनिया की पहली फ्लाइंग कार को मिली मंजूरी, 10,000 फुट की ऊंचाई तक उड़ने में है सक्षम

नई दिल्ली 18 फरवरी 2021 । क्‍या आप भी कार में बैठकर उड़ने का सपना देख रहे हैं, यदि हां तो अब वह दिन दूर नहीं, जब आपका यह सपना भी पूरा होगा.अमेरिका की फेडरल एविएशन अथॉरिटी ने दुनिया की पहली फ्लाइंग कार को उड़ान भरने के लिए अपनी आधिकारिक मंजूरी दे दी है. यह कार 10,000 फुट की ऊंचाई पर 100 मील प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकती है.

टेराफुगिया द्वारा तैयार इस फ्लाइंग कार को उड़ाने की अनुमति अभी सिर्फ पायलट और फ्लाइंग स्‍कूलों को ही दी गई है. वाणिज्यिक रूप से उड़ान भरने के लिए अनुमति मिलने में और एक साल का वक्‍त लग सकता है.

हालांकि इससे पहले कंपनी को सड़क सुरक्षा से जुड़े नियमों के पालन की रूपरेखा तैयार करनी होगी. कंपनी को उम्‍मीद है कि दो सीटर उड़ने वाली हाइब्रिड कार के उत्‍पादन और सामान्‍य इस्‍तेमाल की अनुमति वर्ष 2022 तक मिल सकती है.

कंपनी ने कहा कि इस फ्लाइंग कार को चलाने और उड़ाने के लिए यूजर्स के पास ड्राइविंग लाइसेंस के साथ ही साथ स्‍पोर्ट्स पायलट सर्टिफ‍िकेट होना अनिवार्य होगा.

टेराफुगिया की इस कार में 100 हॉर्स पावर की ताकत है. इसमें 912 आईएस सपोर्ट फ्यूल इंजेक्‍टेड इंजन है, जिससे यह 10,000 फुट की ऊंचाई पर 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से करीब 644 किलोमीटर तक उड़ान भर सकती है.

यह कार प्रीमियम गैसोलाइन ईंधन या विमान में इस्‍तेमाल होने वाले 100एएल ईंधन से चलेगी. इसमें हाइब्रिड इलेक्ट्रिक मोटर है. टेराफुगिया उड़ने वाली कार के कई अन्‍य मॉडल भी बना रही है. सबसे ज्‍यादा टीएफ-एक्‍स कार की चर्चा हो रही है.

इस इलेक्ट्रिक कार में एक साथ चार लोग बैठ सकते हैं. ये कार पूरी तरह कम्‍प्‍यूटरीकृत है, जिसमें जहां उतरना है उसकी जानकारी फीड करनी होती है. ये कार हवा में ट्रैफ‍िक, खराब मौसम और प्रतिबंधित एयरस्‍पेस से बचाव करने में सक्षम है.

फ्लाइंग कार का वजन लगभग 590 किलोग्राम है. इसमें 4 पहिए हैं और हाइड्रोलिक डिस्‍क ब्रेक हैं. सुरक्षा के लिए इसकी बॉडी कार्बन फाइबर से तैयार की गई है, जिसमें एयरफ्रेम पैराशूट लगा है. कार में 27 फुट चौड़े पंखे है, जो आसानी से मुड़कर छोटे हो जाते हैं. इस कार की कीमत लगभग 3 करोड़ रुपये के आसपास होगी.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Ram Mandir निर्माण के लिए Rajasthan के लोगों ने दिया सबसे ज्यादा चंदा

जयपुर: विश्व हिंदू परिषद (VHP) के केंद्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के …