मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> उत्तरप्रदेश >> योगी आदित्यनाथ ने गिनाया मुसलमानों के लिए कितना किया काम, बताया क्यों नहीं दिया टिकट

योगी आदित्यनाथ ने गिनाया मुसलमानों के लिए कितना किया काम, बताया क्यों नहीं दिया टिकट

नयी दिल्ली 28 जनवरी 2022 । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार ने मजहब के आधार पर कभी भेदभाव नहीं किया और जो फायदे हिंदुओं को मिल रहे हैं वही मुसलमानों को भी दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था में सुधार का फायदा दोनों समुदायों को हुआ है। हिंदुओं की बेटियां सुरक्षित हुई हैं तो मुस्लिम बेटियां भी सुरक्षित हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि यूपी की आबादी में मुसलमानों की हिस्सेदारी 19 फीसदी है, लेकिन कई योजनाओं में 35 फीसदी लाभ ले रहे हैं। उन्होंने इस बात का भी जवाब दिया है कि क्यों बीजेपी ने चुनाव में एक भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया है। मुस्लिम वर्ग में योगी सरकार को लेकर असुरक्षा की भावना क्यों है? इसके जवाब में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा, ”उनकी उदंडता और अराजकता को रोका गया है। अन्यथा जितने भी सभ्य और संभ्रात मुस्लिम समाज से जुड़े लोग हैं, वे सरकार के काम से खुश हैं। अगर सुरक्षा हिंदू बेटी को मिली है तो मुस्लिम बेटी को भी मिली है। हिंदू महिला को सुरक्षा मिली है तो मुस्लिम महिला को भी सुरक्षा मिली है। हिंदू व्यापारी खुश है तो मुस्लिम व्यापारी को भी सुरक्षा दी गई है। हर एक को सुरक्षा की गारंटी दी गई है। सुरक्षा के मुद्दे पर और शासन की योजनाओं में कोई भेदभाव नहीं किया गया है।”

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यदि हिंदू पर्व और त्योहार शांति से मनाए जा रहे हैं तो मुस्लिम पर्व-त्योहार भी शांति से मनाए जा रहे हैं। अगर यहां कर्फ्यू नहीं तो वहां भी कर्फ्यू नहीं। लेकिन यहां की सुरक्षा खतरे में पड़ेगी तो वहां की सुरक्षा भी खतरे में पड़ेगी। यही तो होता था कि पर्व और त्योहार आने से पहले कर्फ्यू लग जाता था। अब तो नहीं हो रहा है ना। हर पर्व त्योहार शांति से मनाया जा रहा है। हर बहन-बेटी, क्या जाति क्या धर्म, सभी सुरक्षित हैं। क्यों नहीं दिया किसी मुस्लिम को टिकट?
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जब यह सवाल किया गया कि बीजेपी ने किसी मुस्लिम उम्मीदवार को क्यों नहीं चुनाव में उतारा तो उन्होंने कहा, ”समाजवादी पार्टी ठेका ले ले, हर सीट पर टिकट दे दे, कौन रोक रहा है उनको। चुनाव की केमेस्ट्री विश्वास पर आधारित होता है, लोगों के आवेदन पर आधारित होता है, जीत और हार के समीकरण पर निर्धारित होता है। यह मेरे कहने या मेरे देने से नहीं होता है।”

‘आबादी 19 फीसदी, लाभ 35 फीसदी’
योगी आदित्यनाथ ने कहा, ”हमने 45 लाख आवास दिए, 35 फीसदी मुस्लिम आबादी को आवास मिले। हमने 2 करोड़ 61 लाख शौचालय बनाए, 35 फीसदी लाभ मुस्लिम समुदाय को मिला है। हम 15 करोड़ लोगों को राशन दे रहे हैं, इनमें 5 करोड़ मुस्लिम हैं। इसमें कहीं भेदभाव हुआ है क्या? हमने 9 करोड़ लोगों को 5 लाख रुपए की सालाना स्वास्थ्य बीमा का आयुष्मान योजना का कवर दिया है, इनमें 3 करोड़ मुस्लिम हैं। आबादी उनकी 19 फीसदी, लाभ 35 फीसदी, फिर भी कहेंगे कि अन्याय हमारे साथ हो रहा है। इससे बड़ा झूठ क्या होगा। मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक से मुक्ति बीजेपी सरकार ने दिलाई है।”

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …